बेगूसराय: बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में जांच से बचने की कोशिश में फरार चल रही बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने बेगूसराय की एक अदालत में मंगलवार को आत्मसमर्पण कर दिया. बालिका गृह कांड मामले की जांच के लिए वर्मा के खिलाफ शस्त्र कानून में मामला दर्ज है. वर्मा एक ऑटोरिक्शा में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रभात त्रिवेदी की अदालत में आई. कुछ सहयोगियों के साथ आईं वर्मा अदालत परिसर में प्रवेश करते ही बेहोश हो गईं. आस-पास के लोगों ने जब वर्मा के मुंह पर पानी के छींटे मारे, तब उन्हें होश आया. बाद में उन्हें अदालत कक्ष में ले जाया गया.

बालिका शेल्‍टर होम रेपकांड: पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के के पति चंद्रशेखर वर्मा ने कोर्ट में किया सरेंडर

सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व मंत्री वर्मा की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर 12 नवंबर को बिहार पुलिस को डांट लगाई थी. शीर्ष अदालत ने ने वर्मा की गिरफ्तारी नहीं होने की सूरत में बिहार के पुलिस महानिदेशक को 27 नवंबर को अपने समक्ष उपस्थित होने को कहा था.

मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम कांड: सुप्रीम कोर्ट को आश्‍चर्य, पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को क्‍यों तलाश नहीं कर पा रही बिहार पुलिस

वर्मा ने अपने पति चंद्रशेखर वर्मा और मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बीच संबंधों की बात बाहर आने के बाद वर्मा ने अगस्त में प्रदेश की सामाजिक कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. बालिका गृह में 30 से ज्यादा बच्चियों का यौन शोषण हुआ था.

बिहार शेल्टर होम कांड: बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के आवास व अन्य परिसरों पर सीबीआई का छापा

सीबीआई की छापेमारी के दौरान वर्मा के आवास से भारी मात्रा में हथियार मिलने के बाद उनके खिलाफ शस्त्र कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था.