पटना| राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने रविवार को प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी  के प्रचार के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रहे हैं. लालू ने बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने गए मोदी द्वारा ओडिशा में रोड शो करने के संबंध में यह टिप्पणी की.

उन्होंने मीडिया से कहा, “अपनी पार्टी बीजेपी के अभियान और प्रचार के लिए प्रधानमंत्री के रूप में मोदी अपनी शक्तियों का दुरुपयोग कर रहे हैं.” लालू ने कहा कि सरकारी कोष के जरिए मिली सुविधाओं का दुरुपयोग करना गलत है.

राजद अध्यक्ष ने कहा कि मोदी अपनी पार्टी का प्रचार करने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग करके प्रचार करने की उन्हें आजादी नहीं है. उन्होंने जोर देकर कहा कि मोदी की अगुवाई वाली बीजेपी का मुकाबला विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर ही कर सकती हैं. उन्होंने कहा, “भाजपा का मुकाबला करने के लिए यह जरूरी है, अगर हम एकजुट होंगे तो बीजेपी कहीं नहीं होगी.”

लालू ने भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज किया
लालू प्रसाद ने अपने परिवार के सदस्यों द्वारा गलत ढंग से जमीन लिखवा लेने के वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी के आरोप को आज खारिज करते हुए कहा कि वह उनकी बातों का नोटिस नहीं लेते. बिहार विधान परिषद में प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी लगातार लालू और उनके परिवार के सदस्यों पर नामभर की कंपनियों के जरिए दूसरों की जमीन अपने नाम करवा लेने के आरोप लगा रहे हैं. आरोपों की जद में पटना के पॉश इलाके सगुना मोड़ के पास दो एकड़ के भूखंड पर बिहार का सबसे बड़ा निर्माणाधीन मॉल भी शामिल है.

अपने बड़े पुत्र और बिहार के स्वास्थ्य, वन एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव के 28वें जन्मदिन के अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए लालू ने कहा कि सुशील मोदी को बिहार भाजपा में किनारे कर दिया गया है. अब वह सीन से बाहर हैं और मेरी छवि धूमिल करने के लिए जनता के बीच भ्रम पैदा करते रहते हैं.

लालू ने सुशील को ‘मुकदमेबाज’ की संज्ञा देते हुए कहा कि उनकी आदत दूसरों का चरित्रहनन करना तथा मुकदमा करना है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने हाल ही में बिंदुवार जवाब दिया है और अब उनकी घिग्घी बंधी हुई है और बोलती बंद हो गयी है.