गया: बिहार में सत्ताधारी राजग में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर रविवार को आरोप लगाया कि उन्होंने उन्हें सिर्फ नाम का मुख्यमंत्री बनाया था. गया शहर के गाँधी मैदान मे हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा सेक्युलर के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाया कि उन्होंने उन्हें सिर्फ नाम का मुख्यमंत्री बनाया था. Also Read - नीतीश राज को लालू यादव ने किया परिभाषित, इन 18 नामों के जरिए की शासन की व्याख्या

उन्होंने आरोप लगाया कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद नैतिकता के आधार पर नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था लेकिन उसमें उनकी कूटनीति थी. वह सिर्फ नाम के मुख्यमंत्री थे. सारा कार्य नीतीश कुमार करते थे. सिर्फ उनको दिखावे के लिए मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाया था. लेकिन जब हम लोगों के सामने काम करने लगे तो उन्हें पद से हटा दिया. Also Read - यूपी की योगी सरकार प्रवासी मजदूरों को राज्‍य में ही दिलाएगी 11 लाख नौकरियां, MoUs साइन किए

मांझी ने कहा, ‘‘जब बाबू वीर कुंवर सिंह ने 80 वर्ष की उम्र में तलवार उठा ली थी तब मेरी उम्र 73 वर्ष की ही है. अब हम भी तलवार उठा लेंगे. सरकार सतर्क हो जाये. सिर्फ किसान-मजदूर की भलाई की बात करने से कुछ नहीं होगा, बल्कि किसानों और मजदूरों को उनका हक देना होगा.’’ उन्होंने कहा कि आगामी 8 अप्रैल को पटना मे लाखों की भीड़ रहेगी तो हम तख्ता पलट देंगे. Also Read - बिहार में बढ़ सकता है कोरोना, सीएम नीतीश ने अधिक क्वारंटाइन सेंटर बनाने को कहा, स्वास्थ्य विभाग को भी तैयारी के आदेश

मांझी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि आने वाले समय में आप अपनी चट्टानी एकता का परिचय दे तभी ये सरकार हमारी बात सुनेगी.