पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नेपाल एवं गंडक नदी के जलग्रहण क्षेत्र में हो रही भारी बारिश के कारण गंडक नदी के जलश्राव (डिस्चार्ज) एवं नदी के जलस्तर में काफी वृद्धि होने की संभावना को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों और संबंधित क्षेत्रों के जिलाधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं. नीतीश ने आशंका जताते हुए कहा कि भारी बारिश के कारण पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, वैशाली एवं सारण जिले में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो सकती है. Also Read - पीएम नरेंद्र मोदी देंगे बिहार को सौगात, 7 परियोजनाओं का आज करेंगे उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने इन क्षेत्रों में भारी बारिश एवं संभावित बाढ़ की स्थिति को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग एवं सभी संबंधित जिलाधिकारियों को पूरी तरह अलर्ट में रहने का निर्देश देते हुए कहा कि गंडक नदी के जलश्राव वाले क्षेत्रों में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों का निष्क्रमण कराकर उन्हें चिन्हित ऊंचे एवं सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की कार्रवाई सुनिश्चित करें. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: फिर से LJP-JDU में ठन गई लड़ाई , चिट्ठी पहुंची PM मोदी तक

मुख्यमंत्री ने राहत एवं बचाव कार्य के लिए पूरी तरह तैयार रहने का भी निर्देश भी अधिकारियों को दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा, “निष्क्रमित आबादी के बीच सहायता कार्य पूरी तत्परता के साथ करें, जिससे उन्हें किसी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े.” उन्होंने ऐसे इलाकों में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का प्रयोग अनिवार्य कराने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए. मुख्यमंत्री ने उन इलाकों में पशुओं के लिए भी समुचित चारे की व्यवस्था सुनिश्चित करवाने के निर्देश अधिकारियों को दिए. Also Read - पप्पू यादव ने कहा- पीएम मोदी का सहारा क्यों ले रहे हैं, विकास कराया है तो अकेले चुनाव मैदान में आएं