पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को बीजेपी के साथ किसी भी प्रकार के मतभेद से इनकार किया. उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार सही तरीके से चल रही है. अस्वस्थ चल रहे आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद के हालचाल जानने के लिए मुंबई फोन करने पर बाद आरजेडी नेताओं के निशाने पर आए नीतीश ने कहा कि यह समाज के वातावरण को घृणित करने वाली बात है. पटना में लोक संवाद कार्यक्रम में भाग लेने के बाद नीतीश ने मीडियाकर्मियों से कहा, “सरकार में कोई मतभेद नहीं है. बिहार में सरकार सही तरीके से चल रही है. मैं और सुशील मोदी एक साथ बैठे हैं, कोई दूरी नजर आ रही है क्या?” Also Read - Corona Virus in Bihar: बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 16 हज़ार पार, इन जिलों का बुरा है हाल

तेजस्वी के व्यवहार को बताया मर्यादाहीन आचरण
लालू प्रसाद के हालचाल जानने के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव द्वारा निशना बनाए जाने के संबंध में पूछे जाने पर नीतीश ने कहा कि मर्यादाहीन आचरण हुआ है. इससे आखिर समाज में क्या संदेश जाएगा. उन्होंने कहा, “मैंने लालू का हालचाल जानने के लिए चार बार फोन किया, लेकिन हमारे फोन करने को लेकर काफी गलत बातें समाने आई, जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं.” Also Read - Video: सुशांत सिंह राजपूत को बिहार के लोगों की श्रद्धांजलि, अब एक्टर के नाम से जाना जाएगा पूर्णिया का यह चौक

सांप्रदायिक माहौल खराब नहीं होने देंगे
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राजनीतिक विरोध हो सकता है, लेकिन क्या हम किसी के सेहत की जानकारी नहीं ले सकते. इस बात को जिस तरह पेश किया गया वो आहत करने वाली है.
जेडी (यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एक बार फिर स्पष्ट कहा कि हम किसी कीमत पर सांप्रदायिक माहौल खराब नहीं होने देंगे. हमलोग पूरी मर्यादा के साथ काम करते हैं. Also Read - बिहार में एनकाउंटर में 4 नक्‍सली ढेर, इंस्‍पेक्‍टर घायल, एके-56 समेत कई हाईटेक हथियार जब्‍त

केंद्रीय मंत्री गिरिराज का आरोपियों से मिलना गलत बात
रविवार को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा नवादा जेल में सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न करने के आरोपियों से मिलने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि आरोपी से मिलना गलत है. उन्होंने कहा कि कोई व्यक्ति अपनी राय दे सकता है और अगर कुछ गलत है तो उसके लिए न्यायालय है. बता दें कि केंद्रीय मंत्री रविवार को नवादा जेल में जाकर आरोपियों से मुलाकात की थी और प्रशासन पर ऐसे लोगों को बेवजह परेशान करने का आरोप लगाया था. (इनपुट-एजेंसी)