बिहार में सोशल मीडिया पर मंत्रियों, सांसदों और विधायकों की आलोचना संबंधी पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई करने संबंधी नीतीश कुमार सरकार के फरमान पर बवाल शुरू हो गया है. विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश को खुली चुनौती दी है. उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हैं. उन्होंने कहा कि मैं चुनौती देता हूं कि नीतीश कुमार की सरकार उन्हें गिरफ्तार करे. Also Read - Social Media, Digital Media, OTT के लिए गाइडलाइंस जारी, 10 प्वाइंट्स में जानिए अहम बातें

दरअसल, बिहार में साइबर क्राइम के खिलाफ कार्रवाई करने वाली एजेंसी आर्थिक अपराध विंग ने एक आदेश में राज्य सरकार के सभी विभागों से कहा है कि वे मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और अन्य अधिकारियों के खिलाफ आपत्तिजनक और गलत सोशल मीडिया पोस्ट के खिलाफ शिकायत करे.

इस फैसले के तुरंत बाद तेजस्वी ने कहा कि चुनौती देते हुए ट्वीटर पर आरोपों की झड़ी लगा दी. तेजस्वी ने नीतीश को भ्रष्टाचार का भीष्म पितामह कहा.

तेजस्वी ने कहा- 60 घोटालों के सृजनकर्ता नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह, दुर्दांत अपराधियों के संरक्षकर्ता, अनैतिक और अवैध सरकार के कमजोर मुखिया हैं. बिहार पुलिस शराब बेचती है. अपराधियों को बचाती है, निर्दोषों को फंसाती है. उन्होंने आगे कहा कि मैं चुनौती देता हूं कि अब मुझे इस आदेश के तहत गिरफ्तार करो.

उन्होंने एक ट्वीट में नीतीश पर हिटलर के पदचिन्हों पर चलने का आरोप लगाया. तेजस्वी यहीं रूके. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि अगर लालू यादव ने भाजपा से हाथ मिला लिया होता तो आज वह हिन्दुस्तान के राजा हरिशचंद्र होते.