Bihar alcohol news: नशा मुक्ति दिवस के मौके पर शुक्रवार को बिहार में हजारों सरकारी अधिकारियों, कर्मचारियों ने शराब नहीं पीने और दूसरों को भी शराब नहीं पीने देने की शपथ ली. इस मौके पर बिहार में शराबबंदी को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसके प्रचार प्रसार के लिए रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. पटना में आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों और कर्मचारियों को आजीवन शराब नहीं पीने और दूसरों को भी शराब का सेवन नहीं करने के लिए प्रेरित करने की शपथ दिलाई. उल्लेखनीय है कि बिहार में 2016 से शराब बिक्री और किसी भी तरह के शराब सेवन पर प्रतिबंध है.Also Read - UP: रायबरेली जिले में शराब पीने के बाद 7 लोगों की मौत, कई बीमार

पटना के अलावे अन्य जिलों में भी सरकार के कर्मचारी और अधिकारी अपने-अपने सरकारी कार्यालयों में उपस्थित रहे और शराब नहीं पीने की शपथ ली. इस मौके पर पुलिसकर्मियों ने भी थानों में आयोजित कार्यक्रम में शराब नहीं पीने की शपथ ली. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने नशामुक्ति की मुहिम में मद्यनिषेध प्रचार-प्रसार अभियान रथ को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन प्रखंड और पंचायत स्तर पर भी किए गए. Also Read - बिहार: जहानाबाद में छात्रों ने ट्रेन रोकी, गया में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन को किया आग के हवाले

पटना के ज्ञान भवन में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी भी उपस्थिति रहे. उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों ने शराब न पीने की शपथ ली थी. Also Read - RRB-NTPC रिजल्ट विवाद: रेल मंत्रालय का बड़ा फैसला-स्थगित की गईं दोनों परीक्षाएं, सुनी जाएगी कैंडिडेट्स की बात

(इनपुट भाषा)