पटना: केंद्र सरकार द्वारा दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों, छात्रों, श्रद्धालुओं और अन्य लोगों को वापस लाने की अनुमति देने के दूसरे दिन यानी गुरुवार को जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने राजस्थान के कोटा में फंसे बिहारी छात्रों को वापस लाने के लिए 30 बसें भेजी है. पप्पू यादव ने ट्वीट किया,”बिहार सरकार के पास धन नहीं है. मैं तन-मन-धन से हर बिहारी को बिहार वापस लाने को प्रतिबद्ध हूं. कोटा से छात्रों को लाने हेतु वहां 30 बसें लगवा दी है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से आग्रह है कि वह बस सेनेटाइज करवा कर, छात्रों की सुरक्षित यात्रा का इंतजाम सुनिश्चित कराएं.” Also Read - Coronavirus Latest News: दिल्ली में पहली बार एक दिन में कोरोना संक्रमण के 1000 से अधिक मामले

पप्पू यादव ने आगे कहा, “मैं पूरे देश में फंसे एक-एक बिहारी को ले आऊंगा. धन नहीं है, पर मन है, दिल है. मेरी हर सांस, हर रिश्ता, हर संबंध बिहार के लिए समर्पित है.” उल्लेखनीय है कि बाहर फंसे लोगों को लेकर बिहार में सियासत तेज है. पूर्व सांसद पिछले कई दिनों से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह करते आ रहे हैं कि वह कोटा में फंसे बिहारी छात्रों को वापस लाने की व्यवस्था करें. Also Read - लॉकडाउन: अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों को फोन कर पूछा, अब आगे क्या?

बता दें कि इससे पहले अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है कि वह दिल्ली के छात्रों को बस भेजकर कोटा से वापस लाएंगे. वहीं योगी सरकार इससे पहले ही यूपी के छात्रों को कोटा से बाहर निकाल चुकी है. इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने कोटा से वापस आए छात्रों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की थी.