मोतिहारी: राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री ने शनिवार को यहां इशारों ही इशारों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए काव्यात्मक लहजे में कहा कि ‘जब नाश मनुष्य पर छाता है तो पहले विवेक मर जाता है’. बिहार के पूर्वी चंपारण जिले में रालोसपा के एक नेता की हत्या के बाद उनके परिजनों से मिलने पहुंचे कुशवाहा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए इशारों ही इशारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधा. Also Read - कोच Bharat Arun का बयान, Shardul Thakur के पास ऑलराउंडर बनने की क्षमता

Also Read - Bengaluru Lockdown News Update: घर-घर नि:शुल्क ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर पहुंचाएंगी ओला, गिव इंडिया

बिहार: केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा- आरएलएसपी NDA के साथ रहेगी या नहीं, 6 दिसंबर को करेंगे निर्णय Also Read - Eid-Ul-Fitr 2021 Moon Sighting Kerala Live Updates: केरल में आज रात चांद देखने की कोशिश, क्या कल मनाई जाएगी ईद, जानें पल-पल का अपडेट

पत्रकारों द्वारा लोकसभा चुनाव के सीट बंटवारे को लेकर दोनों नेताओं द्वारा समय नहीं दिए जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘उन्होंने क्यों समय नहीं दिया, इसका उत्तर तो वही दे सकते हैं परंतु दिनकर के शब्दों में ‘जब नाश मनुष्य पर छाता है तो पहले विवेक मर जाता है.’ उन्होंने कहा कि आगामी चार दिसंबर से छह दिसंबर तक पश्चिमी चंपारण के वाल्मीकि नगर में पार्टी का चिंतन शिविर आयोजित किया गया है. यहां कार्यकर्ताओं की राय जानने के बाद पार्टी अगले कदम की घोषणा करेगी. उल्लेखनीय है कि काराकाट के सांसद कुशवाहा ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए राजग में सीट बंटवारे को लेकर 30 नवंबर तक का अल्टीमेटम दिया था.

मुक्ति मार्च से किसानों को क्या होगा हासिल, एक के बाद एक आंदोलन से मिलेगा कोई फायदा?

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का समय मांगा था. इससे पहले भी कुशवाहा ने इस मामले को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने की कोशिश की थी. इधर, कुशवाहा ने लगातार रालोसपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या पर बिहार में नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘यह कैसा सुशासन है, जहां प्रतिदिन लोगों की हत्याएं हो रही हैं. उन्होंने रालोसपा के पकड़ीदयाल प्रखंड अध्यक्ष प्रेमचंद्र गुप्ता की हत्या पर चिंता प्रकट करते हुए अपराधियों को गिरफ्तार कर त्वरित मुकदमा चलाने की मांग की.