नई दिल्ली: पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के नतीजे आ गए हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक जेडीयू के मोहित प्रकाश ने अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है. वहीं उपाध्यक्ष पद एबीवीपी के खाते में गया है. एबीवीपी की अंजना सिंह ने जीत हासिल की है. एबीवीपी के ही मनिकांत मनी और राजा रवि ने चीफ सेक्रेटरी के पद पर जीत हासिल की है. वहीं जेडीयू के कुमार सत्यम ने कोषाध्यक्ष के पद पर जीत हासिल की है. पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव को लेकर बुधवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान हुआ.

विश्वविद्यालय छात्र संघ के लिए 20 हजार से ज्यादा मतदाताओं के मतदान के लिए 46 मतदान केंद्र बनाए गए थे. पुलिस के अनुसार, पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव को लेकर मतदान केंद्रों के पास सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. मतदान केंद्रों पर सुबह से ही मतदातओं की भीड़ लगी है और लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. चुनाव को लेकर छात्र-छात्राओं में उत्साह का माहौल रहा. सभी लोग अपना मत डालने के लिए पंक्ति में खडे होकर अपनी बारी का इंतजार करते दिखे.

मतदान सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक हुआ. देर रात नतीजे घोषित किए गए. इस चुनाव में सेंट्रल पैनल के पांच पदों के लिए कुल 43 उम्मीदवार मैदान में थे. उल्लेखनीय है कि पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ को लेकर बिहार का सियासी पारा भी चढा हुआ था. राज्य के सभी प्रमुख दलों के बीच इस चुनाव को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चला. इस कारण इस चुनाव परिणाम में लोगों की दिलचस्पी बढ़ गई थी.

विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव के प्रचार के दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और जद (यू) के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई थी. इसमें जद (यू) के एक छात्र नेता घायल हो गया था. आरोप है कि इस मामले में पटना पुलिस ने एबीवीपी के राज्य कार्यालय में कई बार छापेमारी की थी. इसके बाद भाजपा और जद (यू) के नेता आमने-सामने आ गए.

भाजपा नेताओं ने प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन पर छात्रसंघ चुनाव में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था. विश्वविद्यालय के कुलपति से सोमवार को मिलने पहुंचे प्रशांत किशोर की कार पर छात्रों ने हमला बोल दिया था, जिसमें वह बाल-बाल बच गए थे. इस घटना के बाद प्रशांत किशोर ने सफाई दी और कहा कि वह अपने एक रिश्तेदार के साथ उनके काम से कुलपति से मिलने गए थे.