नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए बिहार में नौ हजार करोड़ से अधिक लागत से तैयार तीन पेट्रोलियम क्षेत्र की परियोंजनाओ को देश को समर्पित किया. इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी वर्चुअल रैली में मौजूद रहे. सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) द्वारा निर्मित 193 किलोमीटर की दुर्गापुर-बांका पाइपलाइन खंड पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन विस्तार परियोजना का हिस्सा है. प्रधानमंत्री ने 17 फरवरी, 2019 को इसका शिलान्यास किया था. Also Read - Bihar Election 2020: जेल में बंद बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद ने थामा RJD का दामन

परियोनाओं का लोकार्पण करने के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत बिहार के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद को याद करते हुए की. पीएम मोदी ने रघुवंश प्रसाद के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि उनकी मौत से देश की राजनीति में शून्य पैदा हो गया है. Also Read - JDU में शामिल हुए बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे, CM नीतीश कुमार के आवास पर ली पार्टी की सदस्यता

उन्होंने कहा कि रघुवंश जी ने बिहार सरकार को जो आखिरी चिट्ठी दी है उसमें उन्होंने जो कामों की लिस्ट भेजी थी उसे हम सब मिलकर पूरा करेंगे. इसके लिए उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से भीअपील की कि वे उनके द्वारा सुझाए गए कामों को पूरा करने का प्रयास करें.

आइए कुछ बिंदुओं में जानते हैं पीएम मोदी की वर्चुअल रैली की खास बात

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ वर्ष पहले जब बिहार के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की गई थी, तो उसमें बहुत फोकस राज्य के इंफ्रास्ट्रक्चर पर था. मुझे खुशी है कि इसी से जुड़े एक महत्त्वपूर्ण गैस पाइप लाइन प्रोजेक्ट के दुर्गापुर- बांका सेक्शन का लोकार्पण करने का अवसर मुझे मिला है.

पीएम मोदी ने कहा कि अब बिहार और देश बदल गया है. उन्होंने कहा कि अब बिहार उस दौर से निकल चुका है जब एक पीढ़ी काम शुरू होते देखती थी और दूसरी पीढ़ी उसे पूरा होते हुए.

उन्होंने कहा कि अब नए भारत, नए बिहार की इसी पहचान, इसी कार्यसंस्कृति को हमें और मजबूत करना है.

पीएम ने कहा कि बिहार सहित पूर्वी भारत के किसी भी राज्य में न ही सामर्थ्य की कमी और नही प्राकृतिक संसाधनों की लेकिन बावजूद इसके बिहार हमेशा से ही विकास के पथ पर पीछे रहा है. इसके पीछे आर्थिक, राजनीतिक बहुत से कारण थे.

उन्होंने कहा कि गैस बेस्ड इंडस्ट्री और पेट्रो-कनेक्टिविटी, ये सुनने में बड़े टेक्नीकल से लगते हैं, लेकिन इनका सीधा असर लोगों के जीवन पर पड़ता है, जीवन स्तर पर पड़ता है. गैस बेस्ड इंडस्ट्री और पेट्रो-कनेक्टिविटी रोजगार के भी लाखों नए अवसर बनाती है.

पीएम मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि आज जब देश के दूसरे राज्यों में तेजी से CNG ओर PNG पहुंच रही है तो फिर बिहार की जनता को भी इसका लाभ मिलना चाहिए और से सभी सुविधाएं आसानी से पहुंचनी चाहिए.