भागलपुर: बिहार में शराब के प्रतिबंध का उल्‍लघन करने पर एक पुलिस अफसर को कार्रवाई का सामना करना पड़ा है. राज्‍य में जिन हाथों में शराबबंदी को लागू करने की ताकत है, वही कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं, लेकिन अब ऐसा करने वाले पुलिस अफसर सावधान हो जाएं. उन्‍हें बख्‍सा नहीं जाएगा. एक थाना प्रभारी को ही शराब के नशे में अरेस्‍ट किया गया है और तुरंत ही सस्‍पेंड कर दिया गया है.

राज्‍य के भागलपुर जिले के खरीक थाना प्रभारी दिलीप कुमार को शराब के नशे में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, और उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित भी कर दिया गया है. गिरफ्तारी के बाद कोर्ट ने उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

नवगछिया की पुलिस अधीक्षक निधि रानी ने मंगलवार को बताया, “सूचना मिली थी कि खरीक के थानाप्रभारी दिलीप कुमार अक्सर शराब का सेवन करते हैं. इसी आधार पर सोमवार देर रात छापेमारी की गई और थाना प्रभारी दिलीप कुमार को शराब के नशे में थाना परिसर से गिरफ्तार कर लिया गया. ” बता दें कि बिहार में किसी प्रकार के शराब का सेवन और व्यापार करने पर पूर्ण प्रतिबंध है.

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार थाना प्रभारी की तत्काल मेडिकल जांच कराई गई, जिसमें शराब पीने की पुष्टि हो गई. निधि ने बताया, “थाना प्रभारी के खिलाफ नवगछिया थाने में उत्पाद अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. थानाध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उनके खिलाफ विभागीय जांच चलाने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है.”