नई दिल्ली: बिहार में अगले साल विधानसभा चुनाव (Bihar Asssembly Election) होने वाले हैं. ऐसे में प्रदेश की राजनीति गरमा रही है. सभी पार्टियों द्वारा एक दूसरे पर बयानबाजी भी जमकर की जा रही है. इसी बीच जदयू (jdu) उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने बड़ा बयान दिया है. किशोर ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनावों में जदयू बड़ी पार्टी की भूमिका में रहेगी. इसलिए जदयू को 50 प्रतिशत से अधिक सीटें मिलनी चाहिए. बता दें कि किशोर ने नीतीश कुमार को बिहार का चेहरा बताया है.

बता दें कि सीट के बटवारे पर बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि यह 1/1.3 या फिर 1.4 रहेगा. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि NRC और CAA को लेकर हमारी पार्टी विपक्ष की भूमिका निभाएगी. नीतीश कुमार ने भी कह दिया है कि हमारी पार्टी बिहार में इस कानून को लागू नहीं होने देगी. हालांकि इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी ने किन परिस्थितियों में नागरिकता बिल को दोनों ही सदनों में समर्थन दिया इस सवाल का जवाब सिर्फ नीतीश कुमार ही दे सकते हैं.

किशोर ने NRC और NPR पर बोलते हुए कहा कि इन दोनों के बीच किसी को संबंध स्थापित करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने NPR को NRC की ओर बढ़ाया गया पहला कदम बताया है. किशोर ने बताया कि यह बहस 2003 के नागरिकता संशोधन विधेयक से जुड़ी है. इस दौरान, यह परिभाषित किया गया था कि एनपीआर के बाद यदि सरकार चाहती है, तो वह Nrc लागू कर सकती है.