पटना: बिहार की सियासत के दो बड़े परिवारों लालू प्रसाद और चंद्रिका राय परिवारों के तनावपूर्ण संबंधों का मामला एक बार फिर सड़कों पर आ गया. पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने अपने आवास से दो वाहनों से अपनी बहू ऐश्वर्या का सामान चंद्रिका राय के घर भेज दिया. उधर, ऐश्वर्या राय के पिता ने उन सामानों को लेने से इंकार कर दिया है. अब ये सामान लदे दो पिकअप वैन पटना स्थित चंद्रिका राय के आवास के बाहर गुरुवार की रात से खड़े हैं. राजद के विधायक और ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने शुक्रवार को कहा कि बगैर सूचना कमरे का ताला तोड़ इस तरह जबरन सामान भेजना गलत है. देर रात सामान को सुरक्षाकर्मियों से यह कहते हुए भेज दिया कि किसी तरह जबरन सामान देकर ही आना.

उन्होंने कहा कि इस सामान में क्या है, कौन जानता है. कहीं फंसाने के लिए कोई आपत्तिजनक सामान हो. सामान भेजना ही था तो पहले सूचना देनी थी, दंडाधिकारी की मौजूदगी में समान की सूची बनती और कानूनी तरीके से भेजी जाती तो और बात थी. इस बीच चंद्रिका राय ने शास्त्रीनगर पुलिस को इसकी सूचना दे दी है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है. इस पर राबड़ी देवी के परिजनों का कहना है कि ऐश्वर्या के परिवारों द्वारा सामान की मांग की गई थी. बहरहाल, सामान लदे दोनों पिकअप वैन चंद्रिका राय के आवास के बाहर खड़े हैं. वैन के चालाकों ने बताया कि उन्हें गुरुवार की शाम मीठापुर सब्जी मार्केट से लालू प्रसाद आवास बुलाया गया था. उस समय कहा गया था कि कुछ सामान भेजना है. सामान लादकर यहां भेज दिया गया है. अब यहां आकर फंस गए हैं. अब इन सामानों को लेकर कहां जाएंगे.

पिछले वर्ष हुआ था तेजप्रताप और ऐश्वर्या का विवाह
उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पूर्व ऐश्वर्या ने अपनी सास सहित अन्य परिजनों के खिलाफ प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए एक प्राथमिकी दर्ज कराई है. गौरतलब है कि लालू प्रसाद के पुत्र तेजप्रताप और ऐश्वर्या का विवाह पिछले वर्ष हुआ था, इसके कुछ ही दिनों के बाद तेजप्रताप ने तलाक की अर्जी पटना की एक अदालत में दाखिल की है.