पटना. बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी इस साल छठ पूजा नहीं मनाएंगी. उनके बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने उन्हें ऐसा ‘गम’ दिया है कि इससे दुखी होकर उन्होंने महापर्व से दूर रहने का फैसला किया है. राबड़ी देवी अपने बेटे तेजप्रताप के पत्नी ऐश्वर्या को तलाक देने के फैसले से दुखी हैं. तेजप्रताप ने चेतावनी दी है कि वह तब तक घर नहीं लौटेंगे जब तक उनके माता-पिता उनके फैसले का समर्थन नहीं करेंगे. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक भोला यादव ने शनिवार को यहां कहा, “राबड़ी देवी इस साल छठ नहीं मनाएंगी, क्योंकि तेजप्रताप के पिछले एक सप्ताह से पटना से गायब रहने से परिवार चिंतित है.” भोला यादव राजद प्रमुख लालू यादव परिवार के करीबी माने जाते हैं. Also Read - Bihar Vidhan Sabha Chunav Result 2020: क्या जीत-हार की फिक्र नहीं, लॉन में धूप सेंक रहे लालू

Also Read - Bihar Election Results 2020: तेजप्रताप 2500 वोटों से आगे, हसनपुर में JDU दे रही कड़ी टक्कर

भाई के तलाक के सवाल पर बिफरे तेजस्वी यादव, बोले- निजी मामले उठे तो न पीएम बचेंगे न सीएम Also Read - Bihar Most Eligible Bachelor: तेजस्वी को आई बचपन की याद, जब देखा मैसेज-हम एक हैं TuTu

भोला यादव ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि रावड़ी देवी तेजप्रताप के उस कथित बयान से दुखी हैं, जिसमें उन्होंने कहा है कि वह तब तक घर नहीं लौटेंगे जब तक उनके माता-पिता उनके फैसले पर सहमति नहीं जताएंगे. उन्होंने कहा, “ऐसी स्थिति में राबड़ी देवी छठ नहीं मनाएंगी.” उन्होंने स्वीकार किया कि परिवार तेज प्रताप को जल्द घर वापस आने के लिए समझाने की कोशिश करता रहा है, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली है. राजद के नेताओं ने बताया कि तेज प्रताप कुछ दिन पहले वाराणसी की यात्रा करने के बाद हरिद्वार में पड़ाव डाले हुए थे.

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पिछले सप्ताह अपने पिता लालू यादव से जेल में मिलने के बाद से घर वापस नहीं आए हैं. वह अपनी पत्नी ऐश्वर्या को तलाक देने के अपने फैसले के बारे में बात करने के लिए पिता के पास गए थे. तेजप्रताप की शादी छह महीने पहले राजद नेता और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय की पुत्री और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा राय की पौत्री ऐश्वर्या के साथ 12 मई को पटना में हुई थी. तेजप्रताप ने मानसिक क्रूरता का हवाला देते हुए दो नवंबर को पटना की सिविल कोर्ट में तलाक की याचिका दायर की.

बोले तेज प्रताप- मैं साधारण इंसान, वो आधुनिक महिला, तलाक पर आगे बढ़ेंगे

राबड़ी देवी के छठ नहीं मनाने के फैसले से लोगों को बिहार के सबसे प्रसिद्ध लोकपर्व का उत्सव इस बार पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित विशाल बंगले में देखने को नहीं मिलेगा. पिछले साल राबड़ी देवी ने कहा था कि वह अपने दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी की शादी के बाद ही छठ मनाएंगी.

(इनपुट – एजेंसी)