नई दिल्लीः देश भर में कोहराम मचा रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) की आंच अब राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad yadav) तक पहुंच गई है. दरअसल, लालू यादव का इलाज कर रहे राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) के डॉक्टर उमेश प्रसाद रांची (Ranchi) निवासी एक 75 वर्षीय साधु का भी इलाज कर रहे थे, जो कि कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. ऐसे में अब लालू प्रसाद यादव के डॉक्टर उमेश प्रसाद और लालू यादव पर भी कोरोना का खतरा मंडरा रहा है. माना जा रहा है कि रिम्स प्रशासन जल्द ही आरजेडी सुप्रीमो के कोरोना जांच का फैसला ले सकता है. Also Read - बढ़ते लॉकडाउन और कोरोना के प्रभाव से परेशान हो गए हैं रणवीर सिंह, बोले- तबाह कर देने जैसा है

डॉ उमेश जिस साधु का इलाज कर रहे थे, सोमवार को उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है. जिसके बाद उसे कोरोना वार्ड में इलाज के लिए आइसोलेट कर दिया गया है. वहीं अब डॉक्टर उमेश भी सहित लालू प्रसाद यादव के भी कोरोना वायरस के चपेट में आने का खतरा दिखाई दे रहा है. बता दें डॉक्टर उमेश रोजाना राजद सुप्रीमो की जांच के लिए पेइंग वार्ड में आते हैं. Also Read - Coronavirus In India Update: संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 51 हजार के पार, इस राज्य में सबसे अधिक मामले

मामले पर जानकारी देते हुए डॉक्टर उमेश ने बताया है कि उन्हें 22 अप्रैल को ही उस वार्ड का कार्यभार सौंपा गया था, जिसमें एक बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. ऐसे में अगर कोरोना का दायरा बढ़ता है तो स्थिति गंभीर हो सकती है.

साधु के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरे वार्ड को सैनेटाइज कर दिया गया है और इसके साथ ही वार्ड के अन्य मरीजों सहित डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के भी सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए हैं. ऐसे में अब सभी की रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है. वहीं अब रिम्स प्रशासन लालू प्रसाद यादव की रिपोर्ट भेजे जाने का फैसला कर सकता है. मामले पर रिम्स प्रशासन का कहना है कि वह इस मामले पर लालू यादव का इलाज कर रहे डॉक्टर्स से भी बातचीत करेंगे.