पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के परिवार में कलह की खबरों के  बीच रविवार को उनके दोनों बेटों ने परिवार में सबकुछ ठीक होने की बात कही है.  लालू के बड़े बेटे एवं पूर्व मंत्री तेज प्रताप ने कहा कि परिवार में कलह के ये सारी खबरों झूठी हैं. मेरे पास तेजस्वी और लालू जी के खिलाफ कुछ भी नहीं है. लेकिन हां, पार्टी के कुछ अन्य वरिष्ठ नेता युवा श्रमिकों को पीछे छोड़ रहे हैं. आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष आरसी पुरावे श्रमिकों को नजरअंदाज कर रहे हैं.

बता दें कि शनिवार को मीडिया में आई खबरों में कहा गया था कि तेज प्रताप यादव अपने तेजस्वी यादव से नाराज हैं और उन्होंने द्वारका जाने की बात कही है.

वहीं लालू के छोटे बेटे एवं पूर्व डिप्टीसीएम तेजस्वी यादव ने कहा, ” यह बहुत साफ है कि तेज प्रताप जी ने पार्टी की ताकत पर बात की थी. उन्होंने 2019 (आम चुनाव) और 2020 (बिहार विधानसभा चुनाव) से पहले हमारी पार्टी को एकजुट और मजबूत करने के बारे में बात की. उन्होंने स्पष्ट कहा है कि तेजस्वी कलेजे का टुकड़ा है. वे मेरे भाई और गाइड हैं.

आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा, पार्टी को मजबूत करने के लिए सभी काम कर रहे हैं. हमें एक राई से पहाड़ नहीं बनाना चाहिए. हमें शिक्षा पर विसंगतियों पर ध्यान देना चाहिए, छात्रों को 35 अंकों में से 38 कैसे दिए गए थे, 44 युवा लड़कियों के साथ रेप कैसे हो गया था. यदि आप इसे अनदेखा करते हैं, तो बिहार को बिल्कुल फायदा नहीं होगा. (इनपुट एजेंसी)