पटना: बिहार विधानसभा क्षेत्र राजापकाड से राजद विधायक शिवचंद्र राम बुधवार को प्याज की “माला” पहनकर सदन पहुंचे. राजद विधायक प्याज की बढ़ती कीमत के मद्देनजर सरकार का इस ओर ध्यान आकृष्ट कराने के लिए इसकी माला गले में पहनकर बिहार विधानसभा की कार्यवाही में भाग लेने पहुंचे.

शिवचंद्र ने कहा कि बढ़ती कीमतें लोगों को उनके सामान्य भोजन से वंचित कर देगी. प्याज, जिसकी पहले कीमत 50 रुपये प्रति किलोग्राम से कम थी, अब 80 रुपये प्रति किलोग्राम से कम नहीं है. वास्तव में, मुझे इसे (गले में पहनी माला में लगे प्याज) 100 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से खरीदना पड़ा. उन्होंने बिहार की नीतीश कुमार सरकार पर 35 रुपये प्रति किलोग्राम की दर पर सब्जी उपलब्ध कराने वाली स्टाल स्थापित करने के वादे को ‘खोखला’ बताते हुए कहा कि मैंने अभी तक इस तरह का कोई स्टाल नहीं देखा है.

गरीबों को 10 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से प्याज उपलब्ध कराए सरकार
शिवचंद्र ने कहा कि मैं इस माला (प्याज से बनी) को पहनकर सदन के भीतर जा रहा हूं क्योंकि मैं चाहता हूं कि माननीय मुख्यमंत्री की नजर इस पड़े और यह उन्हें कुछ गंभीर कदम उठाने के लिए मजबूर करे. उन्होंने मांग की कि सरकार गरीबों को 10 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से प्याज उपलब्ध कराए. यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि प्याज की माला पहने विधायक शिवचंद्र को खुद को मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत करने का अवसर मिल पाया या नहीं क्योंकि नीतीश कुमार सदन की भोजनावकाश से पहले की कार्यवाही के दौरान नहीं पहुंचे थे.

विपक्षी दलों का हंगामा
प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद सहित अन्य विपक्षी दलों कांग्रेस और भाकपा माले के विधायकों के राज्य में कानून-व्यवस्था को लेकर विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा करने के कारण अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी.