पटना: नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में शनिवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के बिहार बंद का मिलाजुला असर देखा गया. इस दौरान बंद समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया. पटना सहित कई इलाकों में वाहनों के शीशे तोड़े गए और मीडियाकर्मियों को भी निशाना बनाया गया. बंद को लेकर शनिवार सुबह से ही बंद समर्थक सड़कों पर उतर आए, जिससे आवागमन प्रभावित हुआ. पटना सहित कई स्थानों पर रेल मार्ग अवरुद्ध किया गया तो कई इलाकों में सड़क जाम कर सड़कों पर आगजनी की गई, जिससे आने-जाने वालों को परेशानी का समाना करना पड़ा. इस बीच, राजद नेता तेजस्वी यादव सहित कई प्रमुख नेता भी सड़क पर उतरे.

बंद को महागठबंधन में शामिल कांग्रेस, रालोसपा, वीआईपी और हम ने समर्थन दिया. राजधानी पटना की सड़कों पर शनिवार को राजद कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शन में पार्टी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल हुए. डाकबंगला चैराहे पर तेजस्वी के साथ पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता थे और वे सीएए के खिलाफ नारे लगा रहे थे. तेजस्वी ने इस दौरान कहा कि सीएए जैसे कानून के विरोध में आज पूरा देश जेल रहा है. उन्होंने सीएए के बहाने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा.

डाकबंगला चैराहे पर जहां मीडियाकर्मियों को निशाना बनाया गया, वहीं औरंगाबाद बाजार में भी बंद की आड़ में उपद्रवियों ने पत्थरबाजी की, जिससे एक पुलिसकर्मी संजय कुमार के घायल होने की खबर है. पटना के फुलवारीशरीफ में भी बंद समर्थकों के जुलूस पर हुए पथराव के बाद स्थिति बिगड़ गई. दोनों ओर से एक घंटे तक जमकर पथराव हुआ, जिसमें दर्जनों लोगों को चोटें आईं. इस पथराव में पुलिसकर्मी सहित कई लोगों के घायल होने की खबर है. पटना जिलाधिकारी कुमार रवि और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक पहुंचे. पुलिस ने बल प्रयोग कर हंगामा कर रहे लोगों को हटाया. इधर, नवादा में भी बंद समर्थकों द्वारा जमकर हंगामा मचाया गया.

सीएए के विरोध में राजद के बिहार बंद को लेकर सुबह बिहार की राजधानी पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल में ट्रेन रोक कर रेल सेवा बाधित की गई. राजधानी पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) व अन्य सहयोगी दलों के सदस्य सुबह पहुंचे और रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया. पटना बस अड्डे पर राजद कार्यकर्ताओं ने खड़े वाहनों में तोड़फोड की.

औरंगाबाद में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2 को बंद समर्थकों ने जाम कर दिया, जिससे वाहनों की लंबी कतार लग गई. इसके अलावा पटना, अररिया, आरा, भागलपुर, समस्तीपुर, वैशाली में भी लोग सड़कों पर उतरे और सड़क पर आगजनी की गई. इस दौरान बंद समर्थकों ने केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की.

नवादा जिले में राजद कार्यकर्ताओं ने पटना-रांची राष्ट्रीय राजमार्ग पर सद्भावना चौक के पास आगजनी की और रास्ता जाम कर दिया.

पटना की सड़कों पर रालोसपा के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा भी सड़क पर उतरे. उन्होंने सीएए का समर्थन और एनआरसी का विरोध करने पर नीतीश कुमार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उनपर अब लोगों का विश्वास समाप्त हो गया है. राजद इस बंद को जहां पूरी तरह सफल बता रहा है, वहीं विरोधी इसे ‘फ्लॉप’ बता रहे हैं.

(इनपुट आईएएनएस)