पटना: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सहयोगी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने शनिवार को कहा कि बिहार में राजग में सब कुछ ठीक नहीं है और वह अब ज्यादा अपमान बर्दाश्त नहीं करेगी. यहां रालोसपा की राज्य कार्यकारिणी की बैठक से पहले पार्टी के प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा, “रालोसपा अब भाजपा द्वारा और अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगी.” वहीं, पार्टी के मुखिया उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि सीटों के बंटवारे के लिए अब वे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से कोई बात नहीं करेंगे. अब यदि बात होगी तो केवल पीएम नरेंद्र मोदी से होगी. Also Read - Farm Laws 2020: कृषि कानूनों के विरोध के बीच किसानों और सरकार के बीच शुक्रवार होगी नौवें दौर की वार्ता

Also Read - Yuva Sansad महोत्सव में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- वंशवाद देश के लिए खतरा, युवा करें इसका खात्मा

रालोसपा अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने में विफल रहने के एक दिन बाद पार्टी की बैठक हो रही है. कुशवाहा ने कहा कि उन्होंने दो बार अमित शाह से मिलने की कोशिश की, लेकिन शाह ने समय नहीं दिया. इसलिए अब वे शाह से कोई बातचीत नहीं करेंगे. सीटों के बंटवारे के लिए जो भी बात होगी, वह अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होगी. उन्होंने यह मांग भी की कि राजग 30 नवंबर से पहले सीटों का बंटवारा कर ले. रालोसपा के प्रवक्ता ने कहा, “कुशवाहा ने कुछ मुद्दों पर चर्चा के लिए दो बार अमित शाह से मिलने का प्रयास किया लेकिन उन्होंने इसके लिए उन्हें समय नहीं दिया.” Also Read - Corona Vaccine Latest Update: 16 जनवरी से पूरे देश में शुरू हो रहा टीकाकरण, PM Modi की आज CMs के साथ अहम बैठक

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा- मुझे तोड़ने वाले खुद ही टूट जाएंगे, राजग को नुकसान होगा

राष्ट्रीय राजधानी से लौटने के बाद कुशवाहा ने मीडिया को बताया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दल युनाइटेड (जद-यू) रालोसपा को बांटने और उन्हें तबाह करने का प्रयास कर रहा है. मंत्री ने कहा, “रालोसपा को बांटने का प्रयास किया जा रहा है क्योंकि नीतीश कुमार मुझे तबाह करने पर तुले हुए हैं.”

नीतीश के बचाव में आए सुशील मोदी तो केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने पीएम नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना

ऐसी संभावना है कि कुशवाहा राजग में बने रहने से संबंधित कोई घोषणा कर सकते हैं. रालोसपा नेता नागमणि ने कहा, “कुशवाहा द्वारा बड़ा खुलासा होगा और यह भाजपा के लिए बहुत बड़ा झटका होगा.” इधर, पार्टी के एक विधायक ललन पासवान ने कहा है कि उनका फैसला पार्टी अध्यक्ष से अलग होगा. उन्होंने पार्टी के एक सांसद के समर्थन का दावा भी किया. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), कांग्रेस और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) के महागठबंधन को आशा है कि रालोसपा जल्द ही इसमें शामिल होगी.