Bihar Politics: राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा(Upendra kushwaha) ने जनता दल यूनाइटेड (JDU) में विलय (RLSP Merger In JDU) की आज औपचारिक घोषणा कर दी है. जिसके बाद नीतीश कुमार ने भी बड़ा कुशवाहा को बड़ा सरप्राइज देते हुए ऐलान किया कि कुशवाहा को तत्काल प्रभाव से जदयू के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बना दिया गया है.  इसके पहले रविवार को ही रालोसपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में इस प्रस्‍ताव पर मुहर लगाई गई. इसके बाद अब दोनों दल इसकी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं.Also Read - बेगूसराय में कार्यक्रम के दौरान टूटा मंच, बच गए उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रशाद, रुदल राय का टूटा पैर

इस ऐलान पर नीतीश कुमार ने किया बड़ा ऐलान और कहा कि उपेंद्र कुशवाहा को जदयू नेशनल पार्लियामेंट्री बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है. Also Read - बिहार: कार चेकिंग के दौरान शराब तस्करों ने ASI को कुचला, पुलिसकर्मी की हुई मौत, ग्रामीणों में शराब लूटने की मची होड़

Also Read - बिहार में जातिगत जनगणना का रास्ता साफ, भाजपा ने किया वादा-हम भी देंगे नीतीश का साथ, राजद भी करेगा सपोर्ट

इस ऐलान के बाद कुशवाहा ने कहा है कि अब आरएलएसपी की पूरी जमात नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में काम करेगी. अभी से कुछ देर बाद ही जेडीयू कार्यालय में उपेंद्र कुशवाहा व मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार सम्मिलित रूप से जदयू में रालोसपा के विलय की सारी औपचारिकताएं पूरी करेंगे.

विलय की इस खबर के साथ ही बिहार की सियासत भी गर्म हो गई है. राजद ने कुशवाहा पर गिरगिट की तरह रंग बदलने का आरोप लगाया है. आरजेडी नेता व नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने इस विलय को फर्जी विलय बताते हुए कहा है कि आरएलएसपी का विलय पहले ही आरजेडी में हो चुका है, अब किस रालोसपा को जदयू में मिलाया है कुशवाहा जी ने.

बता दें कि कुशवाहा कभी राजद-कांग्रेस के साथ ही महागठबंधन का हिस्सा हुआ करते थे. अपने उसूलों की बात करते हुए और बिहार की शिक्षा व्यवस्था की कमी को उजागर करते हुए कुशवाहा ने नीतीश कुमार पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने एनडीए का साथ छोड़ने के बाद नीतीश कुमार से राजनीतिक दुश्मनी मोल ले ली थी और लगातार उनके खिलाफ बोलते रहते थे.