नई दिल्ली: बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में आज होने वाली कांग्रेस की ‘जन आकांक्षा रैली’ को लेकर जहां नेता और कार्यकर्ता उत्साहित हैं, वहीं इसमें भाग लेने के लिए लोग एक दिन पहले ही पटना पहुंचने लगे हैं. रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महागठबंधन में शामिल अन्य घटक दलों के नेता हिस्सा लेंगे. कई सफल रैलियों के गवाह रहे गांधी मैदान में अकेले कांग्रेस करीब 30 साल बाद रैली करने जा रही है. इस रैली को लेकर पटना की सड़कों, गोलंबरों और चौराहों को पोस्टरों और बैनरों से पाट दिया गया है.

इस रैली से पहले लगे पोस्टर्स को लेकर विवाद हो गया है. एक पोस्टर में प्रियंका गांधी को देवी दुर्गा और पीएम मोदी को महिषासुर के रूप में दिखाया गया है जिसका वह वध कर रही हैं. वहीं एक अन्य पोस्टर में राहुल को भगवान राम जबकि पीएम मोदी को रावण के रूप में दिखाया गया है. हालांकि कांग्रेस का कहना है कि इस पोस्टर्स का पार्टी से कोई लेना देना नहीं है. वहीं बीजेपी ने इस पोस्टर्स को लेकर आपत्ति जताई है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा का कहना है कि यह हमारे दुश्मनों की चाल हो सकती है. कांग्रेस एमएलसी प्रेम चंद्र मिश्रा ने दोहराया कि पार्टी ने इस तरह के पोस्टर नहीं लगाए. यह जांच का विषय है कि इसे किसने और क्यों लगवाया है.

पोस्टर जिसमें प्रियंका गांधी वाड्रा को देवी दुर्गा के रूप में महिषासुर का वध करते हुए दिखाया गया है इसी पोस्टर में राहुल गांधी को भगवान शिव के रूप में दर्शाया गया है. यह पटना के गांधी मैदान में 3 फरवरी की रैली में भाग लेने के लिए लोगों को प्रेरित करता है. इसमें लिखा है, राहुल-प्रियंका का सपना, खुशहाल हो देश अपना. बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और बिहार के पूर्व मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि यह उनका मानसिक दिवालियापन है क्योंकि वे नहीं चाहते कि दूसरे लोग देश की सेवा करें. यह दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे देश के पीएम की तस्वीरों को मॉर्फ कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि सभी को रैली करने का अधिकार है. लेकिन इस तरह के पोस्टर्स मानसिक रूप से असंतुलित लोगों द्वारा ही लगाई जा सकती है. इससे पहले, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को रैली के कुछ पोस्टरों में भगवान राम के रूप में दिखाया गया था जिसमें कहा गया था. इसके बाद गांधी और तीन अन्य के खिलाफ पटना की एक अदालत में मामला दर्ज किया गया था. लगभग पूरे पटना को कवर करने वाले पोस्टरों से नाराज, अज्ञात उपद्रवियों ने शनिवार को उग्र प्रदर्शन किया और उनमें से कई को फाड़ दिया.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि इस जन आकांक्षा रैली में पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी, विकासशील इंसान पार्टी के मुकेश सहनी, वामपंथी दलों के नेता तथा छतीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री भाग लेंगे. ठंड को देखते हुए अलाव का इंतजाम भी किया गया है.