Sarkari Naukri 2021 in Bihar: आनेवाले नए वर्ष 2021 में बिहार में बड़ी संख्या में युवाओं को सरकारी नौकरी मिलने की संभावना है. मिली जानकारी के अनुसार, यह संख्या 2 लाख के आसपास होगी. इसमें सहायक प्राध्यापक, शिक्षक, बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी, जूनियर इंजीनियर, दारोगा, सिपाही समेत दर्जनों पद शामिल हैं. इसके लिए बहाली की प्रक्रिया जारी है. कुछ ही महीनों में इसके पूरा होने की संभावना है. Also Read - Love Jihad पर विवाद, बिहार में उठी कानून बनाने की मांग, महाराष्ट्र ने कहा-हमें जरूरत नहीं

बिहार में नए वर्ष में शिक्षा विभाग में 4600 से ज्यादा सहायक प्राध्यापक और स्वास्थ्य विभाग में 3270 आयुष चिकित्सक के अलावा 1600 से अधिक इंटरस्तरीय पद, 1050 कनीय अभियंता, 271 न्यायिक सेवा के पदाधिकारी और बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा लिए जानेवाले संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा के आधार पर मिलनेवाली सैकड़ों नौकरियां शामिल हैं. इंजीनियरिंग पॉलिटेक्निक कॉलेज में करीब 3000 शिक्षक के पद भी खाली हैं. Also Read - IBPS Exam For 645 Post: बैंक में सरकारी जॉब का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन, 23 नवंबर है आखिरी डेट, इस Direct Link से करें आवेदन

बता दें कि बिहार पुलिस में ही 27 हजार से ज्यादा पदों पर बहाली की प्रक्रिया जारी है. इसमें दारोगा, सार्जेंट, एएसआई (स्टेनो), सिपाही और चालक सिपाही के पद शामिल हैं. इसके अलावा कारा विभाग के अधीन सहायक जेल अधीक्षक, होमगार्ड में चालक सिपाही और सिपाही, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अधीन वनों के क्षेत्र पदाधिकारी व वनपाल, परिवहन विभाग के अधीन प्रवर्तन अवर निरीक्षक व चलंत दस्ता सिपाही के पद पर बहाली शामिल है. Also Read - India Post GDS Recruitment 2020: 10वीं पास के लिए भारतीय डाक में 2582 वैकेंसी, परीक्षा और इंटरव्यू के बिना होगी भर्ती, जानें आवेंदन की प्रक्रिया

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, स्थाई नौकरियों के अलावा संविदा आधारित विभिन्न पदों पर भी बड़ी संख्या में बहाली होनी है. इनमें इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेज में 5000 हजार गैर शैक्षणिक पद, 589 अंकेक्षक, 477 प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी के अलावा इसी विभाग में लेखापाल, तकनीकी सहायक और विशेषज्ञों के करीब 2000 पद शामिल हैं.

इसके अलावा जिला, प्रमंडलीय और विभागों में भी बड़े पैमाने पर संविदा या स्थाई नौकरी के लिए नियुक्ति का विज्ञापन जारी किया जा सकता है. हालांकि, इसकी संख्या अभी तय नहीं है. विभागों से ब्योरा मिलने के बाद इसपर निर्णय लिए जाने की संभावना है. इस तरह से सब मिलाकर कुल दो लाख नई नौकरियां नए साल में मिलने वाली हैं.