Bihar Schools Reopen: कोरोना महामारी को लेकर बंद किए गए बिहार के स्कूल लगभग छह महीने बाद फिर से खुलने के लिए तैयार हैं. बिहार सरकार ने 28 सितंबर से स्कूलों को खोलने का फैसला किया है. सरकार के इस फैसले के तहत सप्ताह में बच्चों को दो ही दिन स्कूल आना होगा. इस दौरान 50% टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ भी स्कूल में आएंगे. सरकार का यह आदेश निजी और सरकारी दोनों स्कूलों पर लागू होगा.Also Read - Bihar News: जदयू का नया अध्यक्ष कौन? दिल्ली में आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में होगा ऐलान!

शिक्षा विभाग के इस बड़े  फैसले के तहत 30% बच्चे ही रोज स्कूल आ सकेंगे. इस व्यवस्था के तहत 9वीं से 12वीं क्लास के बच्चे ही विद्यालय में अध्ययन कर सकेंगे. स्कूलों को खोलने को लेकर जो गाइडलाइन सरकार द्वारा जारी किए गए हैं उस आदेश के मुताबिक 9वीं से 12वीं तक का एक बच्चा सप्ताह में सिर्फ दो ही दिन स्कूल जा सकता है. Also Read - Bihar Mayor Murder News: रात में कटिहार के महापौर की हमलावरों ने गोली मारी, अस्‍पताल पहुंचते ही हुई मौत

बिहार सरकार के इस फैसले के तहत केंद्र सरकार की ओर से जारी एसओपी का पालन करते हुए स्कूल जाने की अनुमति होगी. केंद्र सरकार की ओर से जारी अनलॉक-4 में 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को 21 सितंबर से स्कूल जाने की अनुमति दी गई थी. Also Read - Bihar News: प्रेमिका के घरवालों ने प्रेमी की पीट-पीटकर कर दी हत्या, हफ्ते भर के भीतर दूसरी ऐसी घटना

स्कूल जाने वाले छात्रों और शिक्षकों को जिन गाइडलाइन का पालन करना होगा उनमें सोशल डिस्टेंसिंग सबसे अहम हैं. इसके अलावा प्रैक्टिकल क्लास भी अभी नहीं होंगे. स्कूल में बच्चों को मास्क लगाकर ही रहना होगा, सैनिटाइजर भी साथ में रखना होगा. स्कूल प्रबंधन द्वारा कोरोना को देखते हुए कई तरह की एहतियात बरती जा रही हैं, जिनमें साफ-सफाई से लेकर आक्सीजन लेवल जांचने के लिए आक्सीमीटर तक की व्यवस्था होगी.

शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज एक हाईलेवल बैठक (High Level Meeting) बुलाई थी जिसमें ये फैसला लिया गया.  प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा भी है कि बच्चों की सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। केंद्र सरकार की गाइडलान (Central Guideline) को ध्‍यान में रखकर ये फैसला लिया गया है और  इसे लेकर राज्‍य सरकार भी अपनी गाइडलाइन जारी करेगी.