Bihar Assembly Election 2020: शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर भाजपा  पर निशाना साधा है और कहा है कि बिहार में विधानसभा चुनावों को देखते हुए बीजेपी कंगना रनौत का इस्तेमाल राजपूत वोट को पाने के लिए कर रही है. इसके अलावा, सामना में कहा गया कि कंगना रनौत को नई अफीम का नशा है. उनका ऑफिस गैरकानूनी है इसलिए उसे बीएमसी ने तोड़ा है. शिवसेना का ऑफिस से लेना-देना नहीं है. Also Read - तेजस्वी यादव का बयान- बिहार की जनता ने दिया मौका, तो 2 महीने में 10 लाख रोजगार दूंगा

बता दें कि बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और शिवसेना, बीएमसी और महाराष्ट्र सरकार के बीच विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है. बीएमसी ने कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण तोड़ दिया. कंगना ने इसका विरोध जताया और कहा कि उनके ऑफिस में अवैध निर्माण नहीं था. कंगना के वकील ने गुरुवार को हुई सुनवाई में कहा कि बीएमसी ने कंगना का 2 करोड़ रुपए का नुकसान किया है. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: चुनाव से पहले भाजपा ने बदली टीम, कौन अंदर-कौन बाहर

इससे पहले बीएमसी और कंगना मामले में गुरुवार को हुई सुनवाई के दौरान बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर सवाल उठाए. हाईकोर्ट ने पूछा था कि नगर निकाय के अधिकारी संपत्ति के भीतर क्यों गए जबकि उसकी मालिक वहां मौजूद नहीं थी? ऐसे ही कई सवालों का जवाब आज बीएमसी ने दाखिल किया. बीएमसी ने अपने हलफनामा में कार्रवाई को सही बताते हुए कहा कि अवैध निर्माण को गिराया गया. नियमों के तहत कार्रवाई की गई. अवैध निर्माण के मामले में अदालत को दखल नहीं देना चाहिए. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: बदले समीकरण में BJP-JDU के बीच इन सीटों पर फंसेगा पेंच, जानिए

सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले को लेकर चल रहे हंगामे के बीच कंगना रनौत की टिप्पणियों पर जमकर राजनीति हो रही है. इसके साथ ही कंगना रनौत मामले को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर बहसबाजी जारी है. इसका असर बिहार चुनाव पर भी पड़ने वाला है.