Sushant Singh Rajput Death Case: सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले की जांच करने मुंबई पहुंचे बिहार के IPS अधिकारी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटीन में रखा गया था. बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कार्पोरेशन, बीएमसी ने उन्हें मुंबई में जबरन क्वारंटीन किया था. जिसके बाद दोनों राज्यों की पुलिस के बीच अनबन तेज हो गई थी.बिहार के ADG पुलिस मुख्यालय की लिखी चिट्ठी मिलने के बाद BMC ने विनय तिवारी का क्वारंटीन खत्म कर दिया है और उन्हें क्वारंटीन से रिलीज कर दिया है. Also Read - Bihar Police SI Mains Admit Card 2020 Released: BPSSC ने जारी किया SI मेन का एडमिट कार्ड, इस Direct Link से करें डाउनलोड

सुशांत सिंह मौत के मामले को लेकर बिहार पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस के बीच नाराजगी जगजाहिर हो चुकी है. बिहार पुलिस का कहना है कि मुंबई पुलिस इस मामले की जांच में सहयोग नहीं कर रही है. अपने आइपीएस अधिकारी के जबरन क्वारंटीन किये जाने के मामले में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने नाराजगी जताते हुए कहा था कि हमारे अधिकारी के साथ मुंबई पुलिस ने अच्छा व्यवहार नहीं किया. उन्हें क्वारंटीन करने का मतलब एक तरह से हाउस अरेस्ट ही है. Also Read - CSBC Bihar Driver Constable Admit Card 2020 Released: बिहार पुलिस ड्राईवर कांस्टेबल का एडमिट कार्ड हुआ जारी, ये रहा डाउनलोड करने का Direct Link

डीजीपी ने इस मामले पर गुरुवार को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी थी और कहा था कि, “हमारे अधिकारी विनय तिवारी मुंबई पुलिस को सूचना देकर वहां गए थे। पटना के वरिष्ठ पुलिस ने उनके वहां जाने की सूचना दी थी. उन्होंने कहा कि मैंने लिखकर उनके ठहरने के लिए आईपीएस मेस की व्यवस्था करने का अनुरोध किया था.”

उन्होंने कहा, “मैंने भी वहां के पुलिस महानिदेशक को एसएमएस कर स्पष्ट किया था कि विनय तिवारी सुशांत केस की जांच को दिशा देने और समन्वय के लिए तीन दिन के लिए वहां जा रहे हैं, ये वहां गए.” डीजीपी ने कहा, “आईपीएस मेस में ठहरने की व्यवस्था नहीं होने पर वे जहां ठहरे हुए थे, आधी रात को बीएमसी के पदाधिकारियों ने उनका बिना कोई त्वरित जांच कराए हुए उनके हाथ पर मुहर मारकर उन्हें क्वारंटीन में भेज दिया. कहा गया कि अब आप बाहर नहीं निकल सकते, अनुसंधान नहीं कर सकते और किसी का बयान दर्ज नहीं कर सकते.”

बता दें, बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत पिछले 14 जून को अपने बांद्रा स्थित फ्लैट के अंदर मृत पाए गए थे. जिसे आत्महत्या माना जा रहा है. 25 जुलाई को पटना के राजीव नगर थाना में सुशांत सिंह के पिता केके सिंह ने एक एफआइआर दर्ज करायी थी, जिसमें सुशांत की दोस्त रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं. सुशांत सिंह के पिता के अनुरोध पर बिहार सरकार ने उनके मौत के मामले की जांच बिहार पुलिस को सौंपा है और अब इसकी जांच सीबीआइ करेगी.