रांची: पहले सोशल मीडिया और फिर राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय होने के दो दिन बाद तेज प्रताप यादव ने मंगलवार को जेल में बंद अपने पिता और राजद प्रमुख लालू प्रसाद से मुलाकात की. पिता से मिलने के बाद c

राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में लालू और तेज प्रताप की मुलाकात दो घंटे से अधिक समय तक चली. चारा घोटाला मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख इस अस्पताल में अपनी कई बीमारियों का इलाज करवा रहे हैं.

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव से मतभेद और छह महीने से अधिक समय से अपनी पत्नी से मनमुटाव के बाद से कम सक्रिय थे. तेज प्रताप ने कहा, ‘‘कई महीनों के बाद मैंने अपने पिता से मुलाकात की. मैं भावुक हो गया. मैं उन्हें प्यार करता हूं. मेरे पिता मेरे भगवान कृष्ण, विष्णु और महादेव हैं.’’

दो फाड़ हुई रालोसपा, पार्टी के सभी विधायकों और विधान पार्षद ने की राजग में रहने की घोषणा

उन्होंने दावा किया कि राजद प्रमुख ने उनसे ‘पार्टी को आगे ले जाने को कहा है.’ उन्होंने कहा वह तेजस्वी को ‘अर्जुन’ के रूप में देखते हैं और उन्होंने भगवान कृष्ण की भूमिका निभाने की कसम खाई है जिसने महाभारत में अर्जुन के सारथी की भूमिका निभाई थी.

सोशल मीडिया पर फिर एक्टिव हुए तेजप्रताप यादव, Video शेयर कर कहा- जीने का तरीका बदला है, तेवर नहीं

तलाक की अर्जी के बारे में पूछे जाने पर तेज प्रताप ने कुछ नहीं बताया और कहा कि मामला अदालत में लंबित है. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ऐश्वर्या राय से शादी के करीब छह महीने बाद ही तेज प्रताप ने तलाक की अर्जी दायर की है. उनका परिवार इसके खिलाफ है. तलाक की अर्जी दायर करने के बाद भी वे पिता लालू यादव से मिले थे. तब लालू ने जेल से बाहर आने तक उन्हें ऐसा कोई काम करने से रोका था. इसके बाद महीनों तक तेज प्रताप पटना से बाहर रहे थे.