RJD चीफ लालू यादव के निवास के सामने बेटे तेज प्रताप पहले धरने पर बैठे, फि‍र की पिता से मुलाकात

दिल्‍ली से पटना पहुंचे आरजेडी प्रमुख, तेज प्रताप यादव ने यह आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गए थे कि उन्‍हें अपने पिता से मिलने से एयरपोर्ट पर रोका गया

Advertisement

bihar, Patna, RJD, Tej Pratap Yadav, Lalu Prasad, Lalu Prasad Yadav News:  राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद आज रविवार को अपने घर पटना पहुंचे, लेकिन उनके बड़े बेटे तेज प्रताप ने पहले अपने पिता के घर के सामने धरना दिया और फिर इसके बाद अपने पिता से उनके निवास पर मुलाकात की.

Advertising
Advertising

तेज प्रताप यादव ने लालू प्रसाद यादव के निवास के बाहर यह आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गए थे कि उन्‍हें अपने पिता से मिलने से रोका गया. पटना में RJD नेता तेज प्रताप यादव ने कहा, हमें RJD से कोई लेनादेना नहीं है, कोई मतलब नहीं है. आज खुशी का इतना बड़ा मौका था, सब को एक होना था, लेकिन ऐसी परिस्थिति में भी हमें बेइज्ज़त किया गया. एयरपोर्ट पर हमें जगदानंद सिंह ने ठेलने का काम किया. ये कैसा रवैया है? तुम RSS वाले हो.

आज जब आरजेडी चीफ पटना पहुंचे तो मीडियाकर्मियों ने उनसे परिवार में मतभेद को लेकर सवाल किया तो उन्‍होंने अपने दोनों बेटों के बीच कथित तौर पर दरार पड़ने को तवज्जो नहीं दिया और दावा किया उनके परिवार में कोई मतभेद नहीं है.

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

लालू यादव अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से छुट्टी मिलने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में इलाज करा रहे हैं और वह लंबे वक्त बाद बिहार लौटे हैं. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनावों में राजद के लिए प्रचार करने पर फैसला डॉक्टरों से सलाह लेने के बाद लिया जाएगा.

Advertisement

राजद के फैसले ने कांग्रेस को नाराज कर दिया

बता दें कि कुशेश्वर स्थान से अपने उम्मीदवार को मैदान में उतारने के राजद के फैसले ने कांग्रेस को नाराज कर दिया है. कांग्रेस ने 2020 में इस सीट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था. विधानसभा चुनावों में राजद के अच्छे प्रदर्शन की तुलना में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन ने लालू की पार्टी के नेताओं के एक वर्ग को गठबंधन में राष्ट्रीय पार्टी (कांग्रेस) की भूमिका पर सवाल उठाने का मौका दे दिया है. राजद का मानना है कि कांग्रेस को उसकी वास्तविक क्षमता से ज्यादा संख्या में सीटें दे दी गई थीं.

लालू ने सहयोगी दल के रूप में कांग्रेस की उपयोगिता पर उठाया सवाल

दिल्‍ली में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद ने बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी के सहयोगी दल के रूप में कांग्रेस की उपयोगिता पर रविवार को सवाल उठाते हुए उसका उपहास किया. साथ ही, उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि क्या राजद को विधानसभा उपचुनावों में एक सीट कांग्रेस लिए छोड़ देनी चाहिए, ताकि वह वहां अपनी जमानत जब्त करा ले.

क्या होता है कांग्रेस का गठबंधन?

यह पूछे जाने पर कि क्या विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव में राजद द्वारा कांग्रेस को एक सीट नहीं दिए जाने को एक तरह से गठबंधन में टूट के तौर पर देखा जाए, इस पर लालू ने कहा, “क्या होता है कांग्रेस का गठबंधन?” बता दें कि राजद ने उपचुनावों में विधानसभा की दो सीट में एक सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने से इनकार कर दिया है. राजद प्रमुख ने कहा, “क्या हमें एक सीट (कांग्रेस को) हारने के लिए देनी चाहिए? ताकि वह अपनी जमानत भी जब्त करा ले?”

कांग्रेस नेता भक्त चरण दास पर लालू का तंज

लालू ने कांग्रेस नेता भक्त चरण दास का भी उपहास किया, जो पार्टी के बिहार प्रभारी हैं और राजद पर निशाना साधते रहे हैं. दास ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस अब राज्य में राजद के नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा नहीं है और यहां तक कि यह आरोप भी लगाया था कि पर्दे के पीछे उसका बीजेपी के साथ साठगांठ है. लालू ने कहा, ''क्या वह कुछ जानते भी हैं. राजद प्रमुख की यह टिप्पणी उनके बिहार के लिए रवाना होने से पहले आई है, जहां दो सीट पर मौजूदा विधायकों के निधन के बाद उपचुनाव होने जा रहे हैं और उसमें राजद का सीधा मुकाबला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) से है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:October 24, 2021 11:02 PM IST

Updated Date:October 24, 2021 11:01 PM IST

Topics