पटनाः राजद नेता तेजस्वी यादव(Tejashwi Yadav) ने रविवार को घोषणा की कि वह युवाओं के लिए नौकरी की मांग को लेकर पूरे राज्य में यात्रा करेंगे. उल्लेखनीय है कि बिहार में विधानसभा चुनाव(Bihar Assembly Elections) इस वर्ष के अंत में होने वाले हैं और तेजस्वी यादव की नजर संभवत: विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में राजद का वोट आधार विस्तार करने पर है. Also Read - अब स्कूटी वाली महिला ने पुलिस से की बदसलूकी, पीएम मोदी और नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का किया इस्तेमाल

यादव ने यह नहीं बताया कि वह अपनी ‘‘बेरोजगारी हटाओ यात्रा’’ की शुरूआत कब करेंगे लेकिन यह स्पष्ट किया कि उनकी यह यह यात्रा पांच सप्ताह चलने वाले विधानसभा सत्र के दौरान भी जारी रहेगी. विधानसभा सत्र 24 फरवरी से शुरू होगी. उन्होंने कहा, ‘‘देश मंदी और बेरोजगारी से जूझ रहा है. मैं बेरोजगारी हटाओ यात्रा के साथ पूरे राज्य में जाऊंगा.’’ Also Read - Bihar Lockdown Update: कोरोना संकट के बीच नीतीश कुमार की अपील- अभी रोक दीजिए शादी-विवाह क्योंकि...

उन्होंने कहा, ‘‘राजद केवल ‘एम..वाई’ (मुस्लिम..यादव) की नहीं है. इसका आधार बहुत बड़ा है. पार्टी सभी लोगों की है. हमारा परिवार बहुत बड़ा है जिसमें हम समाज के सभी वर्ग का सम्मान करते हैं और प्रत्येक को उचित प्रतिनिधित्व देते हैं.’’ Also Read - Bihar Lockdown Guidelines: बिहार में 15 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान क्या खुलेगा और कहां रहेगी पाबंदी, देखें पूरी LIST

यह पहला मौका नहीं है जब तेजस्वी यादव रोजगार को लेकर सरकार कर निशाना साध रहे हैं. इसस पहले भी उऩ्होंने कई बार बेरोजगारी को लेकर सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. इससे पहले उन्होंने कहा था कि सरकार के पास इस मुद्दे पर कहने या फिर सवालों के जवाब देने के लिए कुछ नहीं है इसलिए इस पर वह विपक्ष से बात नहीं करती. इस यात्रा के बारे में उन्होंने कहा कि यह देश के एक प्रमुख समस्या है और इसे लेकर हम अपने युवाओं को जागरूक बनाएंगे.