पटना: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव अब पूरी तरह चुनावी मोड में नजर आ रहे हैं. शनिवार को तेजस्वी यादव पटना में राजद कार्यालय के बाहर सीढ़ी पर चढ़कर एक बैनर टांगते नजर आए. तेजस्वी यादव ने खुद से राजद दफ्तर के बाहर बैनर लगाया और इस पोस्टर के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल पूछे. उन्होंने बिहार के गरीबों और मजदूरों को अपशब्द कहने और उन्हें अपराधी बताने वाले होर्डिग भी लगाए. Also Read - प्रशांत किशोर का नीतीश कुमार पर हमला, यह वक्त कोरोना से लड़ने का है, चुनाव का नहीं

तेजस्वी द्वारा लगाए गए होर्डिग का शाीर्षक ‘नीतीश कुमार की श्रमवीरों के बारे में घृणित सोच’ है. इसमें मुख्यमंत्री से सवाल पूछा गया है कि उन्हें बिहारी श्रमिक गुंडे क्यों दिखाई दिए? उन्होंने पोस्टर के जरिए सवाल किया उन्हें बिहार के श्रमवीर में अपराधी क्यों लगे? पोस्टर के अंत में लिखा गया है, “नीतीश श्रम करो. श्रमिकों को सम्मान नहीं दे सकते तो अपमान क्यों.” Also Read - बिहार में एनकाउंटर में 4 नक्‍सली ढेर, इंस्‍पेक्‍टर घायल, एके-56 समेत कई हाईटेक हथियार जब्‍त

बैनर लगाकर तेजस्वी ने सभी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि मजदूरों का अपमान करने वाली इस निर्दयी सरकार के खिलाफ हर गली-मोहल्ले, टोले, पंचायत, प्रखंड और जिलास्तर पर इस अमानवीय चिट्ठी के बैनर, पोस्टर और होर्डिग लगाकर गरीबों के प्रति घृणित सोच को उजागर करें.

तेजस्वी ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा, “भाजपा के अधीन कार्य कर रहे आदरणीय नीतीश कुमार जी द्वारा बिहार के श्रमवीरों के संबंध में गृहविभाग से एक चिट्ठी जारी करवाई गई जिसमें श्रमिक भाइयों के बारे में बेहद अपमानजनक और अशोभनीय टिप्पणियां की गयी है. इस चिट्ठी में श्रमिकों को चोर, लुटेरा, गुंडा और अपराधी कहा गया है.”