पटना: देश में लॉकडाउन की समय सीमा को बढ़ा दिया गया है. ऐसे में सरकार की तरफ से देश में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों में भेजने की व्यवस्था की जा रही है. इसी बीच तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर निशाना साधा है. तेजस्वी ने ट्वीट कर नीतीश कुमार और सुशील मोदी की सरकार को डबल इंजन सरकार बताया है. Also Read - प्रवासी मजदूरों की वापसी ने बढ़ाई बिहार प्रशासन की चिंता, कोरोना के मामलों में हो रही वृद्धि

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा आदरणीय नीतीश कुमार जी, गरीब मजदूरों की तरफ से 50 ट्रेनों का किराया राजद वहन करने के लिए एकदम तैयार है क्योंकि डबल इंजन सरकार सक्षम नहीं है. कृपया अब अविलंब प्रबन्ध करवाइए. सुशील मोदी जी- कुल जोड़ बता दिजीए, तुरंत चेक भिजवा दिया जाएगा. वैसे भी आपको खाता-बही देखने का शौक है. Also Read - IRCTC Indian Railway Trains List For Delhi: दिल्ली से चलेंगी 40 ट्रेनें, जानें हर स्टेशन से ट्रेनों के चलने और गुजरने की जानकारी

बता दें कि इससे पहले सोनिया गांधी ऐलान कर चुकी हैं कि वह प्रवासी मजदूरों के ट्रेन का खर्चा उठाएंगी. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संकट के समय देश में अलगअलग जगहों पर फंसे हुए प्रवासी मजदूरों के घर वापसी का खर्चा कांग्रेस पार्टी उठाएगी. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार देश ने इतना बड़ा संकट देखा है और ऐसे समय में हर किसी को एक साथ होकल लड़ाई लड़नी है. उन्होंने कहा कि यह सोचने वाली बात है कि जिनके पास आज खाने के लिए पैसे नहीं है वो किराया कैसे दे सकते हैं.

कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि इस संकट में घर वापस जा रहे मजदूरों के रेल खर्चा का वहन कांग्रेस पार्टी करेगी. उन्होंने ट्वीट करते हुए बाताया कि ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी ने यह फैसला लिया है कि पार्टी मजदूरों के वापसी का रेल खर्च उठाएगी और इसके लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी की हर इकाई श्रमिकों के वापसी के लिए हर जरूरी कदम उठाएगी.