पटना। बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव को 40,000 से ज्यादा शादी का प्रस्ताव प्राप्त होने की बात को गलत करार दिया है. बिहार विधानसभा में 2018-19 के लिए पथ निर्माण विभाग के 6889.12 करोड रूपये के बजटीय मांग पर सरकार की ओर से नंदकिशोर द्वारा दिए गए जवाब से असंतुष्ट आरजेडी विधायकों को उन्हें जुमलेबाज़ की संज्ञा दी. Also Read - Sushant Singh Rajput Suicide Case: परिवार की शेखर सुमन और तेजस्वी यादव को नसीहत- आपको पड़ने की जरूरत नहीं.... हम सक्षम हैं

Also Read - नीतीश कैबिनेट में कोरोना की एंट्री, मंत्री विनोद कुमार सिंह और उनकी पत्नी कोरोना संक्रमित

इस पर नंदकिशोर यादव ने कहा कि पथ निर्माण मंत्री के तौर इस विभाग के वाट्सएप और टोल फ्री नंबर जिनके बारे में अक्टूबर 2016 में झूठ का सहारा लेते हुए आरजेडी की ओर से तेजस्वी की छवि बनाने के उद्देश्य यह प्रचार किया गया था कि इन फोन नंबर पर उनके लिए 40000 शादी के प्रस्ताव प्राप्त हुए जबकि विभाग से जानकारी हासिल करने पर यह पता चला कि उन्हें एक भी ऐसा प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ था. Also Read - राजद को बड़ा झटका, 5 एमएलसी नीतीश कुमार की पार्टी JDU में शामिल

तेजस्वी कोे गुलाब देने के लिए लग गई एक किमी लंबी लाइन

तेजस्वी कोे गुलाब देने के लिए लग गई एक किमी लंबी लाइन

बिहार की पिछली महागठबंधन सरकार के कार्यकाल के दौरान तेजस्वी के पथ निर्माण विभाग के मंत्री रहने के दौरान सड़कों लेकर लोगों से शिकायत हासिल करने के लिए ये नंबर जारी किए गए थे. पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया था कि उन नंबरों पर 47,000 प्राप्त हुए संदेशों में से लगभग 44,000 शादी के (तत्कालीन विभागीय मंत्री तेजस्वी यादव के लिए) प्रस्ताव और सिर्फ करीब 3000 संदेश सड़कों की खराब हालत से संबंधित थे.

तेजस्वी को 40 हजार शादी के प्रस्ताव की खबर उस वक्त खूब सुर्खियों में छाई रही थी. इसे युवाओं की बीच तेजस्वी की लोकप्रिय छवि करार दिया गया था. ठीक इसी तरह 2017 में वैलेंटाइन डे से एक दिन पहले ही तेजस्वी को गुलाब देने के लिए लड़कियों की लंबी लाइन लग गई थी. तेजस्वी किसी कार्यक्रम के लिए गाड़ी में सवार होकर जा रहे थे लेकिन रास्ते में लड़कियों ने उनका रास्ता रोक लिया. लड़कियों को जैसे ही पता चला कि तेजस्वी यादव सड़क मार्ग से गया जाने वाले हैं तो हाथों में गुलाब का फूल लेकर सैकड़ो की संख्या में सड़क किनारे खड़ी हो गई थीं.

(भाषा इनपुट)