रांची. बड़े भाई तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के पारिवारिक रिश्तों में आई खटास के बारे में पूछे जाने पर बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) आज बिफर गए और मीडिया को उनके पारिवारिक मामलों से दूर रहने की हिदायत दी. नौ सौ पचास करोड़ रुपए के चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद से मिलने आए उनके छोटे बेटे तथा बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से जब मीडिया ने तेज प्रताप के बारे में पूछे जाने पर भड़कते हुए कहा, ‘‘मेरे परिवार के बारे में ए टू जेड मामले को उठाने की आवश्यकता नहीं है. यह घरेलू मामला है और इससे परिवार के लोग निपट लेंगे.’’ Also Read - RJD का दावा- बिहार में ज्यादा दिन नहीं चलेगी NDA की सरकार, नीतीश कुमार को दिया यह 'ऑफर'

तेजस्वी ने मीडिया के लोगों से पलट कर पूछा, ‘‘आप बताएं, आप के घर किसने भोजन बनाया, आप ने या आप की पत्नी ने? भोजन अच्छा बना था या खराब बना था? आप दोनों ने साथ खाया भोजन?’’ उन्होंने कहा कि ऐसे निजी सवालों का कोई मतलब नहीं है और किसी के पारिवारिक मामलों में दखल नहीं देना चाहिए. तेजस्वी ने कहा, ‘‘जैसा मैं पहले ही कह चुका हूं, यदि निजी मामले उठाए गए तो फिर प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक सबकी पोल खुल सकती है.’’ Also Read - Bihar Chunav Analysis: समय रहते राजद ने दिखाया होता बड़प्पन तो आज सीएम होते तेजस्वी यादव!

तेजस्वी यादव ने कहा, ‘‘मुझे सिर्फ देश और बिहार की चिंता है. घर के मामले को तो घर के लोग सलटा लेंगे.’’ यह पूछे जाने पर कि लालू प्रसाद यादव से उनकी क्या बात हुई, तेजस्वी ने कहा, ‘‘परिवार के लोगों को जेल में बंद लालू यादव से मिलने के लिए शनिवार का समय मिलता है. इसीलिए यहां आया था. वैसे कल मेरा जन्म दिन भी था अतः आशीर्वाद भी लेना था. उनका स्वास्थ्य भी जानना था.’’ तेजस्वी ने कहा कि अब उनका स्वास्थ्य बेहतर हो रहा है. बिहार की नीतीश सरकार के बारे में पूछे जाने पर तेजस्वी ने कहा, ‘‘नीतीश सरकार कैसी है यह तो उचित समय पर बिहार की जनता ही बता देगी.’’ Also Read - MGB विधायक दल के नेता चुने गए तेजस्वी- कहा, 'जनता का फैसला महागठबंधन के पक्ष में लेकिन EC का नतीजा...'