छपरा. बिहार में बाढ़ और सुखाड़ की खबरों के बीच, सारण जिले से मॉब-लिंचिंग की खबर आई है. एक तरफ जहां राज्य के उत्तरी इलाके के लगभग दर्जनभर जिले बाढ़ की विभीषका से जूझ रहे हैं, वहीं दक्षिण बिहार में सूखे की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच छपरा में मॉब-लिंचिंग की घटना शर्मिंदा करने वाली है. भीड़ द्वारा पीट-पीटकर मार डालने की इस घटना के पीछे भी पशु चोरी का ही मामला सामने आया है. गुरुवार देर रात हुई यह घटना राज्य के छपरा यानी सारण जिले की है. सारण जिले के बनियापुर थाना क्षेत्र में गुरुवार देर रात मवेशी चोरी करने के आरोप में ग्रामीणों ने तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि पिठौरी गांव में तीन से चार लोग मवेशी चोरी करने की नियत से रात को एक वाहन (पिकअप वैन) लेकर पहुंचे थे. इसी क्रम में ये एक घर से मवेशी खोलकर वाहन में चढ़ा रहे थे, तभी घर के लोग जाग गए और शोर मचाने लगे. इसके बाद शोर सुनकर पहुंचे गांव के अन्य ग्रामीणों ने तीन संदिग्ध चोरों को पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी. इस पिटाई में दो लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. घायल अवस्था में एक को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया.

मृतकों की पहचान पास के ही मुस्तफापुर गांव के रहने वाले नौशाद कुरैशी, राजू नट और विदेश नट के रूप में हुई है. सारण के पुलिस अधीक्षक हरिकिशोर राय ने बताया कि सूचना मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है तथा शवों को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

(इनपुट – एजेंसी)