cm nitish kumar statement on jdu leader Prashant Kishor and Pawan Verma: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने CAA और NRC के मुद्दे पर बढ़-चढ़कर बयानबाजी करने वाले अपनी ही पार्टी के नेताओं को साफ संदेश दे दिया है. उन्होंने कहा है कि ऐसे नेताओं की ओर से खुलेआम की जा रही बयानबाजी आश्चर्यजनक है. गौरतलब है कि जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और महासचिव पवन वर्मा CAA और NRC के मसले पर लगातार अपनी ही पार्टी को घेरते आ रहे हैं. ताजा मामला दिल्ली विधानसभा चुनाव से संबंधित है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में जदयू ने भाजपा के साथ गठबंधन किया है. जदयू दिल्ली की दो विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इसको लेकर वरिष्ठ नेता पवन वर्मा ने नीतीश को पत्र लिखकर इस फैसले की आलोचना की थी.

इस बारे में पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने कहा कि यदि किसी को कोई दिक्कत है तो वह पार्टी की बैठक में अपनी बात रख सकता है. लेकिन इस तरह की बयानबाजी आश्चर्यजनक है. वह जा सकते हैं और कोई और पार्टी ज्वाइन कर सकते हैं. उनको मेरी तरह से शुभकामनाएं हैं.

नीतीश के इस बयान के बाद पवन वर्मा ने भी तुरंत अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि वह सीएम नीतीश कुमार के पार्टी में चर्चा के लिए जगह होने की बात की तारीफ करते हैं. मेरा इरादा उनको दुख पहुंचाने का नहीं था. मैं चाहता हूं कि पार्टी अपनी विचारधारा को लेकर स्पष्ट रहे. मैं अपने पत्र के जवाब का इंतजार कर रहा हूं. उसके बाद ही आगे के कदम के बार में कोई फैसला करूंगा.

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव पवन वर्मा ने मंगलवार को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ‘विस्तृत बयान’ देने की मांग की थी. उन्होंने पटना हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से कहा था कि नागरिकता कानून के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन के मद्देनजर पार्टी द्वारा वैचारिक स्पष्टता की जरूरत है.