नई दिल्‍ली: ये वीडियो केंद्रीय राज्‍य मंत्री अश्‍व‍िनी कुमार चौबे का है, जिसमें वह एक पुलिस अफसर को तेजी से डांटते-फटकारते हुए नजर आ रहे हैं. अपने संसदीय क्षेत्र बक्सर (Buxar) के डुमरांव पहुंचे मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने जनता दरबार में लोगों की शिकायत सुन रहे थे, इसी बीच एक कार्यकर्ता ने  मंत्री  को बताया कि पुलिस ने उसका नाम गुंडा रजिस्‍टर में दर्ज कर दिया है. यह सुनते ही मंत्री चौबे ने थानेदार को सामने बुलाया और जमकर खरी खोटी सुनाई.

अश्विनी चौबे ने शिकायतकर्ता के सामने थानेदार से पूछा, ‘ये गुंडा दिखाई पड़ रहा है? किसने कहा था गुंडा को नोटिस देने के लिए? अभी बताओ, एसपी ने कहा था या डीजीपी? किसी को भी गुंडा बता देंगे आप? जो गुंडा है, उसकी गुंडागर्दी तो आप ठीक कर नहीं पाएंगे, जो सीधा है उसको गुंडा बता रहे हैं. नोटिस दे देते हैं. आम आदमी को नोटिस के बदले आप पर कार्रवाई कर देंगे, तो कहां जाएंगे? वर्दी उतर सकती है आपकी. समझते हैं आप. वर्दी उतर सकती है आपकी.’

केंद्रीय राज्‍य मंत्री चौबे की नाराजगी के सामने थानेदार ज्‍यादा कुछ कहने की स्‍थि‍ति में नहीं था. चुपचाप उनकी फटकार सुनते रहा. आखिर में अश्विनी चौबे ने थानेदार को डीएसपी के पास जाकर दस्तावेज देने और सही से जांच करने की हिदायत दी.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने इस मामले में कहा कि कुछ भाजपा कार्यकर्ता और अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता, जिन्होंने 2003 में भ्रष्टाचार और अपराध के खिलाफ विरोध किया था, उन्हें वर्तमान प्रशासन ने ‘गुंडा’ कहा था. मैंने पुलिस कर्मियों से कहा कि किसी को ‘गुंडा’ कहना सही नहीं है.