खगड़िया: केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने बिहार के खगड़िया जिले के मानसी प्रखंड के एकनिया में बने प्रदेश के पहले मेगा फूड के उद्घाटन से गुरुवार को इनकार कर दिया. फूड पार्क का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री के हाथों होना था, लेकिन काम पूरा नहीं होने के चलते उन्‍होंने मना कर दिया. इतना ही नहीं, अधूरे काम से नाराज मंत्री ने प्रमोटर के अनुदान पर भी रोक लगा द

केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री कौर ने कहा कि जब तक फूड पार्क का कार्य पूरा नहीं होगा, तब तक वह उसका उद्घाटन नहीं करेंगी. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में कागज पर काम नहीं होता है. जनता ने चुन कर काम करने के लिए भेजा है. जब तक काम पूरा नहीं होगा, उद्घाटन नहीं करूंगी.” उन्‍होंने यह भी जोड़ा कि फूड पार्क के लिए प्रमोटर को अब अनुदान तभी मिलेगा, जब इसका काम पूरा हो जाएगा. मंत्री ने मंत्रालय स्‍तर पर इसकी लगातार निगरानी के आदेश भी दिए हैं.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम सहित सभी 17 केस सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को किया ट्रांसफर

केंद्रीय मंत्री के इस फैसले के बाद विपक्षी पार्टियां बिहार सरकार पर हमलावर हैं. उनका कहना है कि सरकार जल्‍दबाजी में उद्घाटन करना चाहती थी, लेकिन केंद्रीय मंत्री ने उसके इरादों की पोल खोलकर रख दी. राज्‍य के उद्योग मंत्री जय कुमार सिंह ने कहा कि उनके कार्यालय ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर काम पूरा नहीं होने के बारे में बताया था, लेकिन उसका कोई जवाब नहीं मिला.

तलाक की अर्जी वापस नहीं लेंगे लालू के बेटे तेजप्रताप, जनवरी 2019 में होगी अगली सुनवाई

कौर ने आरोप लगाया, “यह सब कांग्रेस के शासनकाल में होता था. कांग्रेस शासनकाल में देश मे 45 मेगा फूड पार्क का शिलान्यास किया गया था लेकिन मात्र दो मेगा फूड पार्क में खाद्य प्रसंस्करण का कार्य पूरा हुआ. इसमें एक बाबा रामदेव का है, जिन्‍होंने अपने दम पर काम को पूरा किया है. दूसरा हैदराबाद में पूरा हुआ था. अन्य सभी मेगा फूड पार्क को रद्द कर दिया गया था.”