पटनाः बिहार में लोकसभा की एक सीट समस्तीपुर और विधानसभा की पांच सीटों किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार सुबह सात बजे मतदान शुरू गया. उपमुख्य निर्वाचन अधिकारी बैजूनाथ कुमार सिंह ने बताया कि शांतिपूर्वक और निष्पक्ष मतदान कराने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर प्रयाप्त संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है. इन सभी सीटों पर कुल मतदाताओं की संख्या 32,27,282 है जिनमें 15,26,867 महिला मतदाता, 4,113 सर्विस इलेक्टर्स और 82 तीसरे लिंग के मतदाता शामिल हैं. इनके लिए 3,258 मतदान केंद्रों पर 3,258 बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट की व्यवस्था की गयी है.

इन सभी सीटों पर कुल 51 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं जिनमें छह महिला उम्मीदवार शामिल हैं, लेकिन दरौंदा और सिमरी बख्तियारपुर सीट से एक भी महिला चुनावी मैदान में नहीं है. चुनावी मैदान में डटे हुए कुल 51 उम्मीदवारों में जदयू और राजद के चार-चार, भाकपा के तीन, कांग्रेस के दो, भाजपा एवं लोजपा के एक-एक, 12 अन्य दलों और 24 निदर्लीय प्रत्याशी शामिल हैं. समस्तीपुर लोकसभा सीट लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का हाल में निधन होने के कारण खाली हो गयी थी तथा किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर विधानसभा सीट यहां के विधायकों के लोकसभा के लिए निर्वाचित होने पर रिक्त हुई थीं.

Haryana Assembly election 2019 Live Update: बड़े-बुजुर्गों में मतदान को लेकर भारी जोश, ट्रैक्टर से वोट डालने पहुंचे दुश्यंत

राजग में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जदयू, भाजपा और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की लोजपा शामिल है. राजग ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों में से 39 सीटों और दो विधानसभा सीट के उपचुनाव में जीत हासिल की थी. वहीं विपक्षी महागठबंधन में राजद, कांग्रेस, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर, पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा और फिल्मी सेट डिजाइनर से राजनीति के क्षेत्र में कदम रखे मुकेश सहनी के दल विकासशील इंसान पार्टी शामिल है. यह पिछले लोकसभा चुनाव में केवल एक सीट किशनगंज पर विजयी रही थी.

समस्तीपुर लोकसभा सीट पर चुनावी मैदान में आठ उम्मीदवार डटे हुए हैं जिनमें दो महिला और तीन निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं . इस सीट पर सीधा मुकाबला लोजपा उम्मीदवार और दिवंगत पूर्व सांसद रामचंद्र पासवान के पुत्र प्रिंस राज और कांग्रेस प्रत्याशी अशोक राम के बीच है. पिछले लोकसभा चुनाव में अशोक राम, रामचंद्र पासवान के खिलाफ खड़े हुए थे पर उनके हाथों पराजित हुए थे. किशनगंज विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में आठ उम्मीदवार डटे हुए हैं जिनमें दो महिला और चार निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार एवं पूर्व सांसद सईदा बानो और भाजपा प्रत्याशी स्वीटी सिंह के बीच है.

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का दावा, महाराष्‍ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन 225 सीटें जीतेगा

सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में छह उम्मीदवार डटे हुए हैं जिनमें एक निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार अरूण यादव और राजद प्रत्याशी जफर आलम के बीच है. दरौंदा विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में 11 उम्मीदवार हैं जिनमें सात निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार अजय सिंह और राजद प्रत्याशी उमेश सिंह के बीच है. नाथनगर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में 14 उम्मीदवार डटे हुए हैं जिनमें दो महिला और सात निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार लक्ष्मीकांत मंडल और राजद प्रत्याशी राबिया खातून के बीच है.

बेलहर विधानसभा सीट पर चुनावी मैदान में चार उम्मीदवार डटे हुए हैं जिनमें दो निर्दलीय प्रत्याशी शामिल हैं. इस सीट पर मुख्य मुकाबला जदयू उम्मीदवार लालधारी यादव और राजद प्रत्याशी रामदेव यादव के बीच है. किशनगंज विधानसभा सीट कांग्रेस के विधायक रहे मोहम्मद जावेद, सिमरी बख्तियारपुर सीट जदयू विधायक दिनेश चंद्र यादव, दरौंदा सीट जदयू विधायक कविता सिंह, नाथनगर जदयू विधायक अजय मंडल और बेलहर विधानसभा सीट जदयू विधायक गिरधारी यादव के सांसद बनने से खाली हुई थी.