भागलपुर: अगर आपके घर के आस-पास पुलिस की टीम बैंड बाजे के साथ पहुंच जाए तो चौंकिएगा नहीं, बल्कि सचेत रहने की जरूरत है. आप जान लीजिए आपके पास पड़ोस में भी किसी कांड में फरार आरोपी का घर है, जिसे पुलिस तलाश रही है. लोग इसे लेकर डर भी जाते हैं. जी हां, यह पढ़कर आपको भले आश्चर्य हो रहा हो लेकिन यह सच है. बिहार पुलिस इस कोरोना काल में फरार बदमाशों को तलाशने के लिए उसके घर में बैंड बाजा के साथ पहुंच रही है. ऐसा ही एक मामला भागलपुर में देखने को मिली जहां एक फरार आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने बैंडबाजे के साथ उसके घर पर दस्तक दी. Also Read - Sushant Case: मामले की जांच करने बिहार से मुंबई पहुंचे IPS विनय तिवारी को 'जबरन' किया गया क्वारंटाइन

बिहार पुलिस (Bihar Police) ने फरार आरोपिययों को पकड़ने का नायाब तरीका अपनाया है. आत्मसमर्पण कराने के लिए पुलिस अपराधी के घर बैंड बाजा लेकर पहुंचती है और फरार आरोपियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कह रही है. इस दौरान पुलिस फरार आरोपियों की संपत्ति कुर्की के लिए न्यायालय से वारंट भी उसके घर में चिपका रही है. Also Read - सुशांत केस में बिहार पुलिस की कार्रवाई पर बोले अनिल देशमुख- स्थानीय पुलिस को ही है जांच का संवैधानिक अधिकार

भागलपुर जिले (Bhagalpur Police) के बबरगंज थाना की पुलिस ने विभिन्न कांडों में पिछले कई सालों से फरार चल रहे महेशपुर के मड़वा में सूरज यादव के पुत्र चंदन यादव उर्फ करकु के घर में बैंड बाजे के साथ पहुंचकर इश्तेहार चिपकाया. इसके साथ ही पुलिस ने अपराधियों के परिजनों को जल्द आत्मसमर्पण करवाने की चेतावनी देते हुए कहा कि समय सीमा के अंदर आत्मसमर्पण नहीं करने पर कुर्की की कार्रवाई की जाएगी. Also Read - सुशांत आत्महत्या मामले में हर पहलू से उठेगा पर्दा, IPS विनय तिवारी एड़ी चोटी का दम लगा देंगे

इसके बाद थाना प्रभारी पवन कुमार बैंड बाजा और अपने पूरे लावलश्कर के साथ सिकंदरपुर के चंडी प्रसाद लेन में टुनटुन प्रसाद उर्फ मुन्ना साह के पुत्र राहुल उर्फ नारियल के घर पहुंचकर दरवाजे पर इश्तेहार चस्पा किया. इस दौरान थाना प्रभारी ने बताया कि समय सीमा के अंदर सभी अपराधियों को आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया गया है, ऐसा नहीं करने पर अदालत के आदेश पर कुर्की की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी.