नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के मुखिया लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का आज जन्मदिन है. हालांकि उनके जन्मदिन को लेकर न तो पार्टी में और नहीं परिवार में किसी तरह का उत्सव देखने को मिल रहा है. तेजस्वी यादव पिछले तीन दिनों से दिल्ली में हैं. बताया जा रहा है कि उन्होंने दिवाली भी नहीं मनाई. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अपने घरवालों से नाराज चल रहे तेजप्रताप यादव अपने छोटे भाई के जन्मदिन के मौके पर उनसे मुलाकात कर सकते हैं. तेजप्रताप छोटे भाई तेजस्वी को तरुण कहकर बुलाते हैं. पिछले साल तेजस्वी के जन्मदिन के मौके पर बड़े भाई तेजप्रताप ने पटना से सिद्धपीठ छोटी पटन देवी मंदिर में अपने छोटे भाई की सलामती और लंबी आयु के लिए विशेष पूजा अर्चना की थी.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव पत्नी को तलाक देने के मामले में रांची में अपने पिता से मिलने के बाद से घर नहीं लौटे हैं. आरजेडी नेताओं और  बड़ी बहन मीसा भारती का कहना है कि तेजप्रताप सोमवार से वाराणसी में हैं. बताया जा रहा है कि तेज प्रताप अपनी मां समेत परिवार द्वारा पत्नी एश्वर्या से अलग होने के उनके फैसले का समर्थन नहीं करने को लेकर नाराज हैं.

दूसरी ओर तेजस्वी यादव ने उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव द्वारा दायर की गई तलाक की याचिका पर मीडिया सुर्खियों को लेकर शनिवार को नाखुशी जाहिर की थी और कहा था कि परिवारिक मामलों को सार्वजनिक नहीं किया जाना चाहिए. तेजस्वी का कहना था कि घरेलू मामलें लोगों को प्रभावित करते है लेकिन केवल परिवार के सदस्यों को. ये सार्वजनिक मुद्दे नहीं है.

कुछ दिन पहले बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद से राज्यसभा सदस्य और पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती ने माना था कि उनके दोनों भाइयों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच मनमुटाव है. एक कार्यक्रम में मीसा ने कहा था कि अगर आप सामने से लड़ेंगे तो हम झांसी की रानी की तरह लड़ लेंगे लेकिन पीठ में खंजर मारेंगे तो इसे हम अब बर्दाशत नहीं करेंगे. चाहे वह पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता हो…. थोड़ा मनमुटाव किसमें नहीं. जब हमारे हाथ की पांच अंगुली बराबर नहीं हैं. हमारे परिवार में भाई-भाई में मनमुटाव है तो फिर राष्ट्रीय जनता दल तो बहुत बड़ा परिवार है. वोट की कमी राजद को नहीं है. हालांकि बाद में मीसा भारती ने कहा था कि उनके बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया था.