मुजफ्फरपुर: बिहार के मुज़फ्फरनगर (Muzaffarnagar) में बड़ा दिलचस्प मामला सामने आया है. एक लेडी 10वीं की परीक्षा (10th Exam) दे रही थी. इसी दौरान उसके पेट में दर्द होने लगा. लेडी को एक अलग कमरे में लिटाया गया. इसके बाद उसे आनन-फानन हॉस्पिटल ले जाया गया. यहाँ उसने एक बच्चे को जन्म दिया. इस बच्चे का नाम इम्तेहान रखा गया है. Also Read - जिस 15 साल की लड़की से पिता ने बनाए संबंध, उसी से बेटे ने भी किया रेप, 3 महीने बाद पेट में हुआ दर्द, फिर...

मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के एमडीडीएम कॉलेज के परीक्षा केंद्र का है. यहाँ मैट्रिक परीक्षा देने आई एक महिला अचानक प्रसव पीड़ा से कराहने लगी. एमडीडीएम कॉलेज परीक्षा केंद्र की केंद्राधीक्षक डॉ. मीरा मधुमिता ने बताया कि इस कॉलेज में मैट्रिक का परीक्षा केंद्र बनाया गया है. शुक्रवार को दूसरी पाली की परीक्षा में शामिल शांति देवी एक घंटे परीक्षा लिखने के बाद अचानक प्रसव पीड़ा से छटपटाने लगी. Also Read - लड़की से बनाए संबंध, प्रेग्नेंट हुई तो दहेज़ देकर कराई शादी, दूल्हे को प्रेग्नेंसी का चला पता, अब...

केंद्राधीक्षक ने इसकी खबर तत्काल उन्हें दी. उन्होंने कहा कि इसके बाद शांति को अलग एक कमरे में बुलाकर लिटा दिया गया और इसकी सूचना जिला शिक्षा अधिकारी को दी गई. उनके निर्देश के बाद शांति को एंबुलेंस से सदर अस्पताल (Civil Hospital) भेज दिया गया, जहां उसने देर शाम एक बेटे को जन्म दिया. Also Read - Indian Railways Recruitment: रेलवे की 1.4 लाख Vacancies के लिए भर्ती परीक्षा आज से हो रही शुरू

शांति पुत्र की प्राप्ति के बाद खुश है. शांति के पति बिरजु सहनी बताते हैं कि वह प्रसव पीड़ा (Labor Pain) के पहले वस्तुनिष्ठ प्रश्न हल कर चुकी थी. उन्होंने कहा कि जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं. शांति के पति बताते हैं कि परीक्षा के क्रम में भगवान ने उन्हें पुत्र दिया है, इसी कारण से इसका नाम ‘इम्तिहान’ रखा है. शांति अभी आगे और पढ़कर नौकरी करना चाहती है.