पटना: ‘सुपर 30′ के दो छात्रों के जापान के टोक्यो विश्वविद्यालय में शानदार प्रदर्शन को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने ‘सुपर 30’ के ऊर्जावान छात्रों को वहां ले जाने की योजना बनाई है. इसी सिलसिले में टोक्यो विश्वविद्यालय के इंडिया ऑपरेशन हेड हिरोशी योशिनो शुक्रवार को पटना पहुंचे और ‘सुपर 30’ के संस्थापक आनंद कुमार व उनके छात्रों से बातचीत की. Also Read - आनंद कुमार का कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में पढ़ने का था सपना, अब देंगे वहां लेक्चर

टोक्यो विश्वविद्यालय ने ‘सुपर 30’ के छात्रों से प्रभावित होकर दो छात्र अभिषेक गुप्ता और कुणाल कुमार को पूरे स्कॉलरशिप के साथ पढ़ने के लिए दो साल पहले आमंत्रित किया था. इन दोनों छात्रों के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए और छात्रों को वहां ले जाने की योजना बनाई है. हिरोशी योशिनो ने कहा, “आज जापान में युवाओं की कमी हो रही है, जबकि भारत बतौर युवाओं का देश जाना जाता है. जापान चाहता है कि भारतीय युवाओं को वहां के विश्वविद्यालय में पढ़ने का मौका दिया जाए, जिससे उनकी ऊर्जा और जापान की तकनीक का उपयोग कर दुनिया को और भी बेहतर बनाया जा सके.” Also Read - स्कूली छात्रों को गणित के गुर सिखाएंगे सुपर 30 के आनंद कुमार

उन्होंने कहा कि पहले जापान बाहरी छात्रों को तैयार करने में विशेष रुचि नहीं लेता था, क्योंकि वहां की भाषा यहां के छात्रों के लिए बाधा थी. वर्तमान समय में बाहर के विद्यार्थियों के लिए अंग्रेजी में स्नातक और स्नातकोत्तर कोर्स की सुविधा शुरू की गई है. Also Read - फिल्‍म सुपर 30 छोड़ेंगे रितिक रोशन, ट्वीट से दिए संकेत

योशिनो ने आनंद कुमार के प्रयास की प्रशंसा करते हुए कहा कि चाहे जापान का सबसे मशहूर टीवी चैनल एनएचके हो या फिर चर्चित अखबार योमूरी, ‘सुपर 30’ की चर्चा जापान में अकसर होती है. उन्होंने कहा कि जापान की सबसे चर्चित सिने तारिका नोरिका फुजिवारा ‘सुपर 30’ को देखने पटना भी आ चुकी हैं.