वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और दिवालिया विधेयक के बजट सत्र के दूसरे हिस्से में संसद में पारित हो जाने की उम्मीद है। यह बात रविवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कही। उन्होंने ‘एडवासिंग एशिया’ सम्मेलन में यहां कहा, “संसद के वर्तमान सत्र में दो दिन पहले दो महत्वपूर्ण विधेयक पारित हो चुके हैं।यह भी पढ़े :आम बजट : छोटे करदाताओं, गांवों पर ध्यान Also Read - नोटबंदी भारत के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला, गरीब जनता के पैसे अमीरों की जेब में डाले गए: राहुल गांधी

Also Read - विदेशी मुद्रा की आवक बढ़ाने व चालू खाता घाटा कम करने लिए सरकार उठाएगी कुछ और कदम: जेटली

मुझे उम्मीद है कि बजट सत्र के दूसरे हिस्से में दिवालिया और जीएसटी संबंधी दो विधेयकों भी पारित हो जाएंगे।”मंत्री ने कहा, “मुझे लगता है कि इससे सुधार की प्रक्रिया में और गति मिलेगी।”उन्होंने कहा, “अब हम कानूनी बदलाव और बैंकिंग प्रणाली की मजबूती के लिए संसाधन जुटाने तथा दोनों पर विशेष जोर देने की कोशिश कर रहे हैं। Also Read - GST collection tops Rs 94,000 cr for July | जीएसटी कलेक्शन 94,000 करोड़ रुपये ऊपर पहुंचा

मुझे विश्वास है कि संरचनागत बदलाव के लिए अगले कुछ महीने बहुत महत्वपूर्ण होने वाले हैं।”गत सप्ताह संसद में आधार विधेयक पारित हो गया।जीएसटी विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है, लेकिन राज्यसभा में बहुमत के अभाव में यह लंबित है।