Union Budget 2020-2021: वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) अपना दूसरा बजट (Budget 2020) संसद में पेश किया. उन्‍होंने कहा कि भारत अब दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है और केंद्र सरकार का कर्ज घटकर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 48.7 प्रतिशत पर आ गया है. यह मार्च, 2014 में 52.2 प्रतिशत था. Also Read - Indian Railway Alert: यात्रियों को मिली बड़ी राहत, रेलवे ने फिर शुरू की ये सुविधा, कतार से मिलेगी निजात

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए कहा कि 2014-19 के दौरान औसत वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत से अधिक रही. इस दौरान औसत मुद्रास्फीति 4.5 प्रतिशत रही. सीतारमण ने अपने बजट भाषण कई कल्याण योजनाओं मसलन सस्ता घर, प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) और आयुष्मान भारत का जिक्र किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था की बुनियाद बेहद मजबूत है. मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर जनता को पूरा भरोसा है. Also Read - Private Banks Can Get Govt Business: अब कर संग्रह, पेंशन भुगतान और लघु बचत योजनाओं जैसे काम भी करेंगे निजी बैंक

दूसरी बार बजट पेश कर रहीं सीतारमण
इस दशक का पहला आम बजट आज पेश किया जा रहा है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में लगातार दूसरी बार बजट पेश करने वाली पहली महिला वित्त मंत्री बन गई हैं. उनसे पहले इंदिरा गांधी ने एक बार फरवरी 1970 में बजट पेश किया था. Also Read - Old pension scheme: पुरानी पेंशन योजना की बहाली की उम्मीदों पर फिरा पानी, केंद्र ने कहा- विशेष वर्ग के लिए लागू कर पाना संभव नहीं