नई दिल्ली: फोर्ब्स की सम्मानित कंपनियों की सूची में 17 भारतीय फर्मों को स्थान मिला है. इनमें इंफोसिस, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) और एचडीएफसी शामिल हैं. सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी इन्फोसिस को दुनिया की सम्मानित कंपनियों की सूची में तीसरा स्थान मिला है. वैश्विक भुगतान प्रौद्योगिकी कंपनी वीजा इस सूची में पहले स्थान पर और इटली की कार कंपनी फेरारी दूसरे स्थान पर हैं. बता दें कि दुनिया की 250 सम्मानित कंपनियों की सूची में सबसे ज्यादा 59 कंपनियां अमेरिका की हैं. उसके बाद जापान, चीन और भारत की कंपनियों का नंबर आता है. Also Read - Roshni Nadar Malhotra: रोशनी नाडर के बारे में तस्वीरों के जरिए समझें सब कुछ, देश की सबसे अमीर महिला और HCL टेक की नई चेयरमैन

इन्फोसिस 2018 में इस सूची में 31वें स्थान पर थी. सूची में शामिल शीर्ष दस कंपनियों में नेटफ्लिक्स चौथे, पेपाल पांचवें, माइक्रोसॉफ्ट छठे, वाल्ट डिज्नी सातवें, टोयोटा मोटर आठवें, मास्टरकार्ड नौवें और कॉस्टको होलसेल दसवें स्थान पर हैं. Also Read - यूएई के दौरे पर जयशंकर, भारतीयों से बोले- कोरोना संबंधी मुद्दों पर सरकार जवाबदेह

सूची में शीर्ष 50 स्थानों में भारतीय कंपनी टीसीएस 22वें और टाटा मोटर्स 31वें स्थान पर हैं. सूची में शामिल अन्य कंपनियां हैं….टाटा स्टील (105), लार्सन एंड टुब्रो (115), महिंद्रा एंड महिंद्रा (117), एचडीएफसी (135), बजाज फिनसर्व (143), पीरामल एंटरप्राइजेज (149), स्टील अथॉरिटी आफ इंडिया (153), एचसीएल टेक्नोलॉजीज (155), हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (157), विप्रो (168), एचडीएफसी बैंक (204), सनफार्मा इंडस्ट्रीज (217), जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन आफ इंडिया (224), आईटीसी (231) और एशियन पेंट्स (248). Also Read - Share market news: जानिए-टाटा स्टील के शेयरों में क्यों आई है भारी तेजी

दुनिया की 250 सम्मानित कंपनियों की सूची में सबसे ज्यादा 59 कंपनियां अमेरिका की हैं. उसके बाद जापान, चीन और भारत की कंपनियों का नंबर आता है. जापान, चीन और भारत की कुल मिलाकर 82 कंपनियां सूची में हैं. पिछले साल इन तीन देशों की 63 कंपनियां सूची में शामिल थीं.