रांचीः कुछ ही महीने में झारखंड में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले राज्य सरकार ने अपने कर्मचारियों को शानदारा तोहफा दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास की सरकार ने दिवाली से पहले कर्मचारियों को 5 फीसदी महंगाई भत्ता देने की घोषणा की है. इसका लाभ सेवानिवृत हो चुके कर्मचारियों को भी मिलेगा. राज्य सरकार का यह फैसला जुलाई महीने से प्रभावी होगा. यानी कर्मचारियों और रिटायर कर्मचारियों को करीब तीन माह का एरियर भी मिलेगा.

मुख्यमंत्री रघुवर दास की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में इस बारे में फैसला लिया गया. राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के तर्ज पर अपने कर्मचारियों को पांच फीसदी महंगाई भत्ता देने का फैसला किया है.

7th Pay Commission के अनुसार फैसला

राज्य मंत्रिमंडल के फैसले के अनुसार सरकार के कर्मियों को एक जनवरी 2016 से प्रभावी पुनरीक्षित वेतनमान (सातवें केंद्रीय वेतनमान) में एक जुलाई, 2019 के प्रभाव से महंगाई भत्ते की दर में पांच प्रतिशत अंक की वृद्धि को मंजूरी दी गई है. ज्ञातव्य है कि पिछले सप्ताह केन्द्र सरकार ने अपने कर्मचारियों का महंगाई भत्ता पांच प्रतिशत बढ़ाये जाने का फैसला किया था. सामान्य तौर राज्य सरकारें भी केंद्र के तर्ज पर ही अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ता देती हैं. नौ अक्टूबर को केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को 5 प्रतिशत बढ़ाने का निर्णय किया था.

इससे दिवाली से पहले 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों एवं 65 लाख पेंशनधारियों को फायदा मिलने जा रहा है. एक सरकारी आदेश में कहा गया था कि मूल्‍य-वृद्धि की क्षति-पूर्ति के लिए महंगाई भत्ते को मूल वेतन/पेंशन के 12 प्रतिशत की मौजूदा दर को 5 और प्रतिशत बढ़ाकर उसे 17 प्रतिशत कर दिया गया है. इसे 1 जुलाई, 2019 से प्रभावी माना जाएगा. केंद्र सरकार के इस फैसले से 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनधारियों को फायदा होगा.

(इनपुट-भाषा)