नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के अंतिम आम बजट में शुक्रवार को वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने केंद्रीय कर्मचारियों के बारे में कई बातें कही. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों का विशेष ध्यान रखती है. उसने सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों को तुंरत लागू किया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने सैनिकों को दिए जाने वाले बोनस को 3500 रुपये से बढ़ाकर 7000 रुपये किया. 21 हजार तक वेतन पाने वालों को 7 हजार रुपये बोनस देने का प्रावधान किया. ग्रेच्युटी की सीमा 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख की. सरकारी कर्मचारियों के लिए पेंशन स्कीम को आसान बनाया. जिनका पीएफ कटता है उनके लिए 6 लाख रुपये का इंश्योरेंस दिया. Also Read - Mumbai Local News today 21 October 2020: मुंबई लोकल में आज से हुआ ये अहम बदलाव, महिलाओं के लिए टाइमिंग तय

गोयल ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना शुरू की है. इसके तहत 100 रुपये प्रतिमाह के अंशदान पर 3000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी. ये योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए होगी, जिसमें उन्हें 60 साल आयु के बाद पेंशन दी जाएगी. Also Read - अब महिलाएं भी कर सकेंगी मुंबई लोकल से यात्रा, रेल मंत्रालय ने दी अनुमति; ये होगी टाइमिंग

वित्त मंत्री ने कहा कि हमने रक्षा बजट को बढ़ाकर तीन लाख करोड़ रुपये का किया. वन रैंक वन पेंशन के लिए पिछले सालों में हमने 35000 करोड़ रुपये दिए हैं. हाई रिस्क जोन में तैनात सैनिकों के भत्ते में उल्लेखनीय बढ़ोतरी की गई है. Also Read - 7th Pay Commission: दिवाली से पहले कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का तोहफा देगी मोदी सरकार!