न्यूयॉर्क/नई दिल्ली: भारत के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी दुनिया के अरबपतियों की सूची में भी आगे बढ़ रहे हैं. फोर्ब्स की दुनिया के अरबपतियों की सूची में वह छह पायदान की छलांग लगाकर 13वें स्थान पर पहुंच गये हैं. इस सूची में जेफ बेजोस हालांकि, इस बार भी पहले स्थान पर काबिज रहे हैं. फोर्ब्स ने कहा कि ई-कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी अमेज़ॅन के संस्थापक, 55 वर्षीय जेफ बेजोस इस सूची में पहले स्थान पर बरकरार हैं. उनके बाद बिल गेट्स और वारेन बफेट का स्थान है. बेजोस की संपत्ति पिछले एक साल में 19 अरब डॉलर बढ़कर 131 अरब डालर हो गई. Also Read - चीनी कंपनी हुवावे को टक्कर देगा रिलायंस जियो, अमेरिका में हुई 5जी तकनीक की सफल टेस्टिंग

Also Read - अनिल अंबानी ने ब्रिटेन की कोर्ट से कहा, विलासिता सिर्फ अकटलबाजी है, साधारण और अनुशासित जीवन जीता हूं

मुकेश अंबानी (61 वर्ष) की संपत्ति 2018 में 40.1 अरब डॉलर थी जो कि बढ़कर 50 अरब डालर पर पहुंच गई है. दुनिया के अमीरों में पिछले साल वह 19 वें स्थान पर थे और इस साल वह छह स्थान ऊपर चढ़कर 13वें नंबर पर आ गये हैं. हालांकि, उनके भाई अनिल अंबानी इस सूची में कहीं नीचे 1349वें स्थान पर हैं. इससे पहले 2017 की फोर्ब्स पत्रिका की अरबपतियों की सूची में मुकेश अंबानी का स्थान 33वां था. फोर्ब्स की सूची में शामिल भारत के 106 अरबपतियों में मुकेश अंबानी सबसे आगे हैं. विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी 22.6 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ इस सूची में 36 वें स्थान पर हैं. प्रौद्योगिकी क्ष्रेत्र की प्रमुख कंपनी एचसीएल के सह-संस्थापक शिव नाडर 82वें और आर्सेलर मित्तल के चेयरमैन और सीईओ लक्ष्मी मित्तल 91वें स्थान पर रहे. ये सभी दुनिया के शीर्ष -100 अरबपतियों में शामिल हैं. Also Read - KKR to invest Rs 5,550 crore in Reliance Retail: केकेआर 1.28 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए रिलायंस रिटेल में करेगी 5,550 करोड़ का निवेश

अन्दर से ऐसा है मुकेश अम्बानी का घर Antilia, देखिये तसवीरें

वैश्विक अरबपतियों की सूची में भारत के आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला (122वें स्थान), अदानी समूह के अध्यक्ष और संस्थापक गौतम अडानी (167वें), भारती एयरटेल के प्रमुख सुनील मित्तल (244 वां स्थान), उपभोक्ता सामान कंपनी पतंजलि आयुर्वेद के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण (365वें), पीरामल एंटरप्राइजेज के अध्यक्ष अजय पीरामल (436वें स्थान), बायोकॉन की संस्थापक किरण मजूमदार-शॉ (617वें स्थान), इंफोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति (962वें स्थान) और आरकॉम के चेयरमैन अनिल अंबानी (1349वें स्थान) का नाम शामिल है.

सूची में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग तीन स्थान नीचे आये हैं जबकि न्यूयॉर्क के पूर्व मेयर माइकल ब्लूमबर्ग दो स्थान ऊपर पहुंच गये हैं. पत्रिका ने कहा कि बिल गेट्स की संपत्ति पिछले साल के 90 अरब डालर से बढ़कर 96.5 अरब डॉलर हो गयी है. फोर्ब्स ने कहा कि मुकेश अंबानी सबसे अमीर भारतीय हैं और पत्रिका की वर्ष 2018 की शक्तिशाली लोगों की सूची में वह 32 वें स्थान पर थे. उन्हें 2017 में ‘ग्लोबल गेम चेंजर’ का दर्जा भी दिया गया था. फ्रांसीसी लक्जरी माल कंपनी एलवीएमएच के सीईओ बर्नार्ड अरनॉल्ट वैश्विक सूची में चौथे स्थान पर हैं जबकि जुकरबर्ग इसमें पांचवें स्थान से खिसककर आठवें स्थान पर पहुंच गये हैं.

मुकेश अंबानी ने तिरुमाला मंदिर को 1.1 करोड़ रुपये का दान दिया

पत्रिका में कहा गया है कि यह सूची आठ फरवरी के कंपनियों के शेयर मूल्यों और विनिमय दर के आधार पर तैयार की गई है. इसके प्रकाशन के कुछ दिन के भीतर ही कुछ लोग और धनी हो गये या उनकी संपत्ति कम हुई है. फार्ब्स के इस 33वें सालाना रैकिंग वाली सूची में 2,153 अरब पतियों के नाम है जबकि 2018 में इससे अधिक 2,208 लोगों के नाम थे. इस साल के अबपतियों की कुल सुपत्ति 8,700 अरब डालर रही है जबकि 2018 में उनकी कुल संपत्ति 9,100 अरब डालर थी.