नई दिल्ली. केंद्र सरकार द्वारा बोइंग 737 मैक्स विमानों के उड़ान भरने पर रोक लगाने के बाद बुधवार और गुरुवार को प्रमुख हवाई मार्गों पर विमान किराये में काफी बढ़ोतरी देखी गई. यात्रा.कॉम द्वारा मुहैया कराए गए आंकड़ों के मुताबिक, यात्रा से ठीक पहले टिकट लेने पर बुधवार को किराया मुंबई-बेंगलुरु, बेंगलुरु-मुंबई, चेन्नई-दिल्ली, दिल्ली-कोलकाता और मुंबई-चेन्नई जैसे अहम मार्गों पर पिछले साल 13 मार्च की तुलना में दोगुने से अधिक बढ़ गया. आपको बता दें कि इथोपिया में हुए विमान हादसे के बाद भारत समेत दुनिया के कई देशों ने अपने-अपने हवाई क्षेत्रों में बोइंग 737 मैक्स विमानों के उड़ान भरने पर प्रतिबंध लगा दिया है. ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया समेत 10 से अधिक देशों ने इन विमानों को अपने देश में आने पर रोक लगा दी है.

मुंबई-दिल्ली, बेंगलुरु-दिल्ली, मुंबई-बेंगलुरु, मुंबई, दिल्ली-कोलकाता, मुंबई-हैदराबाद और मुंबई-चेन्नई जैसे मार्गों पर भी पिछले साल की तुलना में गुरुवार को यही स्थिति देखी गई. यात्रा.कॉम के आंकड़ों से पता चला है कि 14 मार्च को मुंबई-चेन्नई रूट पर टिकट की कीमतें बढ़कर 20,329 रुपए हो गई. पिछले साल 14 मार्च को यात्रा से ठीक पहले टिकट लेने पर किराया 5,671 रुपए था. इसके मुताबिक, 14 मार्च को मुंबई-दिल्ली मार्ग पर यात्रा से ठीक पहले टिकट लेने पर किराया 13,495 रुपए है, जिसमें पिछले साल 14 मार्च की तुलना में 137 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

गौरतलब है कि इथोपियन एयरलांइस का एक 737 मैक्स 8 विमान रविवार को अदीस अबाबा के पास दुर्घटना हो गया जिसमें सवार सभी 157 लोग मारे गए थे. मंगलवार रात नागर विमानन महानिदेशालय ने बोइंग 737 मैक्स-8 विमान के उड़ान भरने पर प्रतिबंध लगा दिया. स्पाइसजेट के पास ऐसे 12 विमान हैं और वह इस फैसले से सर्वाधिक प्रभावित हुआ है. गौरतलब है कि इथोपियन एयरलाइन का बोइंग 737 मैक्स-8 विमान रविवार को इथोपिया के अदीस अबाबा के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें चार भारतीय समेत सभी 157 लोगों की मौत हो गई थी. बीते करीब पांच महीने में बोइंग 737 मैक्स-8 विमान दूसरी बार हादसे का शिकार हुआ है. पिछले साल अक्टूबर में लायन एयरलाइन का एक विमान इंडोनेशिया में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें 180 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी.