Airlines Fare: हवाई जहाज (Airlines) से सफर करने वाले यात्रियों के लिए बुरी खबर सामने आ रही है. सोमवार को जेट फ्यूल (Jet Fuel) या एविएशन टरबाइन फ्यूल (ATF) की कीमतों में भारी बढ़ोतरी हुई है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में तेजी के कारण एटीएफ में 6.5 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है.Also Read - CRUDE OIL PRICE: कच्चे तेल में आया उबाल, सप्लाई में कमी से कुछ ही दिनों में 20 फीसदी बढ़े कच्चे तेल के दाम

सरकारी तेल कंपनियों ने एटीएफ की कीमतों में 3,663 रुपए प्रति किलोलीटर की बढ़ोतरी की. जेट फ्यूल में बढ़ोतरी के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इसकी कीमत 59,400.91 रुपए प्रति किलोलीटर पर पहुंच गई है. Also Read - Russia Ukraine Crisis: यूक्रेन पर रूस के हमले से क्या भारत में बढ़ेंगे पेट्रोल-डीजल के दाम?

यहां यह बताना जरूरी है कि एटीएफ के दाम बढ़ने से फ्लाइट टिकट के दाम बढ़ सकते हैं. Also Read - Crude Price Hike: यूक्रेन संकट से कच्चे तेल में लगी आग, सात साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचा

फरवरी से जेट फ्यूल की कीमतों में यह तीसरी बार बढ़ोतरी की गई है. इसके पहले, 16 फरवरी को कीमतों में 3.6 फीसदी और 1 फरवरी को 3,246.75 रुपए प्रति किलोलीटर की बढ़ोतरी की गई थी. कीमतों में बढ़ोतरी उन एयरलाइनों के मार्जिन में कमी लाएगी, जो महामारी की वजह से यात्रा प्रतिबंधों के बीच अपनी क्षमता से कम उड़ान भर रही हैं.

उधर, ग्लोबल इकोनॉमी में तेजी आने की उम्मीद और व्यापक स्तर पर कोरोना वैक्सीन लगने से तेल की मांग में सुधार की वजह से ब्रेंट क्रूड ऑयल (Brent Crude Oil) की कीमतें सोमवार को बढ़कर 65.49 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई हैं.

हवाई सफर होगा मंहगा

एविएशन सेक्टर में एयरलाइंस कंपनियों का 40 से 50 फीसदी खर्च जेट फ्यूल की खरीद पर होता है. जेट फ्यूल के भाव में उछाल से हवाई सफर महंगा हो जाएगा. एयर टिकट के साथ-साथ कार्गो के दाम भी बढ़ेंगे. फ्लाइट टिकट के दाम बढ़ने का असर यात्रियों की जेब पर पड़ेगा तो फ्लाइट से सफर करने वाले लोगों की संख्या भी प्रभावित होगी.